Bindash News || अरे ग़ज़ब: थाना में ही घटिया ठेकेदारी
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

अरे ग़ज़ब: थाना में ही घटिया ठेकेदारी

Bindash News / 15-05-2021 / 1305


मुझे नहीं लगता कि कोई कार्रवाई होगी..?


आशुतोष रंजन
गढ़वा

अक्सर सुनने में आता है कि इस विकासीय कार्य में कोई विघ्न नहीं आता और जल्द पूरा हो जाता अग़र उक्त स्थल पर प्रशासन द्वारा कुछ पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी जाती,लेकिन विडंबना देखिये कुछ पुलिस की व्यवस्था कौन कहे यह कार्य तो ख़ुद पुलिस थाने में ही हो रहा था,यहां तो कार्य बहुत उच्च कोटि का होना चाहिए था,लेकिन वहां भी पुरातनी ठेकेदारी प्रथा नुमाया हुआ,और अभी भवन का अनावरण होना बाक़ी है और तोरण द्वार गिर पड़ा,किस थाने में हो रहा है निर्माण और कहां ध्वस्त हुआ तोरण द्वार आइये आपको इस ख़ास ख़बर के जरिये बताते हैं।

जब थाने में ही हो रही घटिया ठेकेदारी:- यह कैसी पहरेदारी,जब थाने में ही हो रही घटिया ठेकेदारी",यह सवाल उठना क्या लाज़िमी नहीं है,तब जब उस जिले को विकसित करने को ले कर सरकार के नुमाइंदे और प्रशासन के अधिकारी ख़ुद को प्रतिबद्ध बताते हुए विकास कार्य को अमलीजामा पहनाने की क़वायद में जुटे हुए हैं,लेकिन बड़ा हास्यास्पद लगता है तब जब कोई सुदूर देहात और जंगली इलाक़े में नहीं बल्कि मुख्य सड़क और ख़ुद थाना परिसर में कोई निर्माण घटिया होने का मामला सामने आता है,आप यहां जरूर जानना चाह रहे होंगें की वह कौन थाना है तो आपको बताऊं की एन एच 75 मुख्य सड़क पर स्थित वह मेराल थाना परिसर है जहां थाना के नए भवन का निर्माण कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है और उसकी खूबसूरती को भव्यता देने के लिए तोरण द्वार का निर्माण किया जा रहा है,आज वही निर्माणाधीन तोरण द्वार ध्वस्त हो गया,ग़नीमत यही रहा कि जिस वक्त उक्त तोरण द्वार गिरा उस वक्त उसके निर्माण में जुटे मजदूर खाना खाने को ले कर अलग थे और उधर उस वक्त वहां कोई पुलिसकर्मी भी नहीं था,नहीं तो बड़ा हादसा घटित होता,लेकिन सवाल ज्वलंत है कि जब कोई संवेदक थाना परिसर में इस तरह का घटिया निर्माण कराता हो उसे जब सुदूर क्षेत्र का कार्य आवंटन होता होगा तो वो उस कार्य को किस रूप में अंजाम देता होगा यह तो वही जाने या फ़िर वो विभाग जो केवल निर्माण एजेंसी को अपने फ़ायदे के अनुरूप केवल कार्य देना जानता है,वह किस रूप में कार्यरूप ले रहा है उसे देखना गंवारा नहीं करता,यहां पर यह कहने में मुझे कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि जनप्रतिनिधि,सरकार और सरकारी महक़मा जिले को विकास के मामले में सुदृढ बनाने की लाख वक़ालत करते हुए लंबे चौड़े वादे और दावे कर ले,लेकिन यह जिला तब तलक पिछड़ा रहेगा जब तक ऐसी ठेकेदारी प्रथा जड़वत रहेगी।

मुझे नहीं लगता कि कोई कार्रवाई होगी..?:- आपमें यह जिज्ञासा भी जरूर जागृत हो रही होगी कि उस कार्य को किस निर्माण एजेंसी द्वारा कार्यरूप दिया जा रहा है तो आपकी उत्सुकता यह बताते हुए दूर करें कि उक्त निर्माण श्री बंशीधर नगर के पॉपुलर कंस्ट्रक्सन कंपनी द्वारा कराया जा रहा है,यहां आपको इस जानकारी से भी अवगत करा दें कि इसी कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा करोड़ों रुपए की लागत से थाना भवन का निर्माण कराया गया है,उसी भवन के लिए एनएच 75 मुख्य सड़क से नवनिर्मित थाना भवन तक पहुंच पथ पीसीसी तथा लाखों रुपए की लागत से उस तोरण द्वार का निर्माण कराया जा रहा है जो आज ध्वस्त हो गया,साथ ही यह भी कहूं तो कुछ ग़लत नहीं होगा कि सारी जानकारी होने के बाद भी ऐसे घटिया निर्माण करने वाले एजेंसी के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं होगी,क्योंकि ऐसे कई उदाहरण इस जिले के नाम पूर्व से दर्ज़ हैं।

दूरभाष पर करा दिया है हमने अहसास:- इस संबंध में थाना प्रभारी ने कहा कि इसकी सूचना वरीय पदाधिकारी को दूरभाष पर दे दी गई है,साथ ही इस बावत लिखित रूप में भी पुलिस अधीक्षक को दिया जाएगा।

आज के इस घटना के बाद लोग हंस रहे हैं और हंसते हुए यही कह रहे हैं कि यह कैसी पहरेदारी,जब थाना में ही संवेदक ने कर दी घटिया ठेकेदारी।

Total view 1305

RELATED NEWS