Bindash News || सुलझ गयी गुत्थी दोहरे हत्याकांड की, एक "मर्डर" ने करायी दो की "हत्या"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

सुलझ गयी गुत्थी दोहरे हत्याकांड की, एक "मर्डर" ने करायी दो की "हत्या"

Bindash News / 24-09-2018 / 2078


बुलाया खाने को,खिला दी गोली
तीन की हो चुकी गिरफ़्तारी,बाकी चार भी होंगें गिरफ्तार:एसडीपीओ
 
आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
दो जून की शाम गढ़वा थाना क्षेत्र के बेलहारा जंगल में हुए दोहरे हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली,उक्त हत्याकांड में शामिल सात में से तीसरे आरोपी ने आज गिरफ़्तारी के बाद बताया सारा घटनाक्रम,तो आइए इस ख़बर के जरिये आप भी जानिए हत्या की पूरी कहानी।
 
एक मर्डर ने करायी दो हत्या:- पहले एक मर्डर,फिर प्रतिशोध में दो हत्या,जी हां दोहरे हत्याकांड यानी आशीष तिवारी और हिमांशु की हत्या की मुख्य वज़ह एक मर्डर है,दरअसल इन दोनो के हत्या होने से तीन माह पहले पलामू जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र में रौशन नामक एक युवक की हत्या होती है,उक्त हत्या में इन्हीं दोनों की संलिप्तता मानी जाती है,रौशन की हत्या के बाद जहां एक तरफ़ पुलिस अनुसंधान में जुटती है उधर हत्या का बदला हत्या से लेने की योजना बननी शुरू हो जाती है।
 
बुलाओ खाने को,ख़िलायेंगें गोली:- रौशन की हत्या का बदला आशीष और हिमांशु को मार कर लेने की योजना बनायी जाती है,गिरफ्त में आये मंटू दुबे ने जैसा पुलिस को बताया उसके अनुसार चुनमुन दुबे,वेदप्रकाश,सुधीर दुबे,मनोज,अरुण दुबे और कांडी थाना के चोका गांव निवासी पिंटू दुबे द्वारा मिल कर एक योजना बनायी जाती है,जहां यह तय होता है कि आशीष और हिमांशु दोनो को खाने-पीने के लिए बुलाया जाए,और फिर दोनो को मार देंगें,योजना पूरी तरह तैयार हो जाती है।
 
दोनो थे अनजान,यहां तो तैयार था प्लान:- लग रहे थे अभी ठहाके,फ़िर एकाएक छायी ख़ामोशी,जी हां सबके बुलावे पर पार्टी मनाने आये आशीष और हिमांशु तो अनजान थे,पर यहां सबों के दिमाग़ में तैयार प्लान था,आगे मंटू पुलिस को बताता है कि चुनमुन के उस पार्टी में नहीं रहने की जानकारी होने के बाद ही दोनो आने को तैयार हुए थे क्योंकि मारा गया रौशन चुनमुन का रिश्तेदार था,उसी मुताबिक़ प्लान तैयार हुआ था कि खाने-पीने वक्त चुनमुन वहां नहीं रहेगा फिर जैसे ही दोनो नशे में हो जायेंगे वैसे ही चुनमुन वहां आएगा और फिर दोनो को मार दिया जाएगा,हुआ भी वही,जब दोनो का नशा परवान चढ़ा ठीक उसी वक्त चुनमुन वहां पहुंचता है,एकाएक उसे वहां देख दोनो भागने की असफ़ल कोशिश करते हैं लेकिन कुछ कदम जाने के साथ ही दोनो को गोली मारी जाती है,लेकिन मौत नहीं हुआ देख फिर उन्हें बांध कर गोली मारी जाती है,तो इस तरह एक हत्या का बदला दो को मार कर ले ली जाती है।
 
तीन आये हैं हांथ,चार अभी बाकी हैं:- हत्याकांड के तीसरे मुख्य अभियुक्त मंटू दुबे की गिरफ़्तारी के बाद एसडीपीओ गढ़वा ओमप्रकाश तिवारी ने बताया कि दोहरे हत्याकांड की गुत्थी तो हमने सुलझा ली,लेकिन उस मामले में और अभियुक्तों को गिरफ़्तार करना अभी बाकी है,अभी तक सात नामज़द आरोपियों में से तीन की गिरफ़्तारी हो चुकी है,जबकि चार अन्य को गिरफ़्तार करने के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत है,उन्हें भी बहुत जल्द गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।
 
हथियार हुआ बरामद:- जिससे हुई थी हत्या वो हथियार हुआ बरामद,दोनो को गोली मारने में कई हथियारों में से एक हथियार को एक गोली के साथ गिरफ़्तार हुए मंटू दुबे के पास से बरामद कर लिया गया।
 
इन्होंने की छापामारी:- हत्याकांड के साथ आरोपियों में से एक मंटू दुबे को गिरफ़्तार करने के लिए वरीय पुलिस अधिकारी के निर्देश पर  की गयी छापामारी में मुख्य रूप से पुलिस अवर निरीक्षक अमरदयाल राम,रामवृक्ष राम और सहायक अवर निरीक्षक अभिमन्यु कुमार सिंह के साथ साथ कन्हैया सिंह,कौशल सिंह और अनिकेत संगम शामिल रहे।
 
 

 

Total view 2078

RELATED NEWS