Bindash News || गढ़वा: उ का तो भगवा से हरा होने वाले हैं..
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

गढ़वा: उ का तो भगवा से हरा होने वाले हैं..

Bindash News / 15-07-2021 / 2085


ई तो आठवां आश्चर्य होगा


आशुतोष रंजन
गढ़वा

आम ज़िंदगी में अग़र आपका किसी से अलगाव हो गया है तो संभवतः वो आजीवन बना रह जाता है,लाख प्रयास के बाद भी आप एक बार फ़िर से उसके साथ नहीं हो पाते,लेकिन राजनीति की दुनिया सबसे जुदा है,क्योंकि यहां कोई किसी का स्थायी विरोधी और दुश्मन नहीं होता,कहा जाता है कि यहां जो सच्चे रिश्ते होते हैं वो दिखता नहीं,और जो दिखता है वो पूरा सच होता नहीं,यहां मतलब राजनीति में कब कल का विरोधी पक्षधर हो जाये और कौन पक्ष का विपक्षी हो जाये कहा नहीं जा सकता,एक छोटे से कार्यकर्ता से ले कर बड़े राजनेताओं का पाला बदलना बदस्तूर ज़ारी रहता है,किसी का पार्टी बदलना कोई मायने नहीं रखता,लेकिन कभी ऐसे लोग भी पाला बदलते हैं जो विशेष चर्चा का विषय बन जाता है,अब इसी चर्चे को लीजिये जो धीरे धीरे ही सही गढ़वा के राजनीतिक गलियारे में हो रहा है,क्योंकि एक भगवाधारी नेता यानी विपक्षी पार्टी भाजपा के एक नेता हरा गमछा जो धारण करने वाले हैं।

हमें भी तो इंतज़ार है:- अब वो कौन हैं यह तो हम अभी नहीं बताएंगें क्योंकि हमें भी इंतज़ार है उस क्षण का जब वो सालों से हाथों में कमल फूल लिए रहे और लाख झंझावात आयी पर ना तो उनके क़दम डिगे और ना ही वो फूल को कुम्हलाने ही दिए,उनके हाथों का वो फूल अब तलक ताज़ा ही रहा,लेकिन आज अचानक ऐसा क्या हुआ कि वो हाथ वाले फूल के फेंक कर एकाएक तीर कमान उठाने को तैयार हो गए,अंदरखाने में बात तो कुछ जरूर है,या तो ख़ुद की पार्टी में तरज़ीह मिलना बंद हो गया.?,या जिस पार्टी यानी जेएमएम में वो जाने वाले हैं वहां से कोई सम्मानजनक प्रलोभन मिला हो,तभी तो ख़ुद के दहलीज़ से ना भटकने वाले उनके क़दम अब अचानक देहरी लांघने वाले हैं,जाने दीजिए,हमको आपको इससे क्या लेना देना,उनको विपक्षी कहलाना रास नहीं आ रहा है अब उन्हें सत्तापक्ष का कहलाना पसंद है तो इसमें भला क्या हर्ज है,उनकी अपनी मर्ज़ी है वो जो करें,बस हम आपको इस ख़बर के जरिये यह बताने की कोशिश किये की ऐसी चर्चा यहां हो रही है कि फ़लाने अब कुछ ही दिनों में झामुमो नेता कहलायेंगे,लेकिन अंतिम में इतना तो हम जरूर कहेंगें की अग़र ऐसा हुआ तो यह शायद आठवां आश्चर्य कहलायेगा,हम ही नहीं,आप भी कहेंगें।

Total view 2085

RELATED NEWS