Bindash News || ठंढा घर का मुद्दा का त गरम हो गया.?
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

ठंढा घर का मुद्दा का त गरम हो गया.?

Bindash News / 02-08-2021 / 618


पलामू गढ़वा में योजना नहीं लेगी अंगड़ाई,क्या यूं ही होती रहेगी सउरी में ओझाई.?


आशुतोष रंजन
गढ़वा

यह कोई नई बात नहीं है जब कोई योजना मूर्त रूप लेने से पहले ही तात्कालिक ही सही मृत हो गयी हो,अपने राज्य में कई ऐसे छोटे बड़े उदाहरणों की फ़ेहरिस्त है,तो क्या इस योजना का नाम भी उसी अध्याय में जुड़ गया,क्या अब इस पर ग्रहण लग गया,क्या इस पर अब काली बदली छा गयी?,ऐसे कई सवाल हैं जो सबके जेहन में तेज़ी से कौंध रहा है,और लोग ज़वाब जानना चाह रहे हैं,पर प्रश्न नाजवाब है,वह कौन सी योजना है जिसके ऊपर ग्रहण लगने की बात कही जा रही है,आइये इस ख़ास ख़बर के जरिये जानिए।

ठंढा घर का मुद्दा का त गरम हो गया:- परवाज़ ले रहा हौसला नरम हो गया,क्योंकि ठंढा घर का मुद्दा गरम हो गया",आप इतना से कुछ समझे,लगता है नहीं समझ पाए,आप मन ही मन मुझे डांट भी रहे होंगें की क्या हर बार बुझौनी बुझाता है,काहे नाहीं सीधा सीधी बताता है,तो क्या करूं आदतन लाचार हूं,ख़ैर उ सब बात छोड़िए,आइये बताता हूं,ठंढा घर का मतलब मैं बात यहां कोल्ड स्टोरेज की कर रहा हूं,उस कोल्ड स्टोरेज की जिसके निर्माण की आज सोह गांव में स्थानीय विधायक सह मंत्री मिथिलेश ठाकुर द्वारा आधारशिला रखी जानी थी,लेकिन जो जानकारी मिल रही है उसके अनुसार 9 करोड़ी इस बहुद्देशीय योजना को ले कर ख़ुश और आह्लादित होने के बजाए कुछ लोग खासे नाराज़ हो गए हैं,और कार्यक्रम के वक्त जो मुंह जयघोष करते उससे विरोध के बोल निकल रहे हैं,साथ ही जो हाथ ताली बजाते वो इनकार वास्ते उठ रहे हैं,जिसका आलम है कि मौसम साफ़ होने के बाद भी फ़िलहाल उक्त योजना काले बादलों के बीच घिरता दिख रहा है,यानी यूं कहें कि ग्रहण लगता प्रतीत हो रहा है।

सुन रहे हैं कि आज नहीं होगा शिलान्यास:- होने जा रही थी पूरी एक बड़ी आस,लेकिन सुन रहे हैं कि आज नहीं होगा शिलान्यास",योजना छोटी हो या बड़ी सरज़मीन पर उसके आकार लेने से एक आस पूरी होती है,लेकिन जब या तो वो पूरी ना हो या शुरू ना हो तो चाहत अधूरी रह जाती है,अब इस कोल्ड स्टोरेज रूपी बहुद्देशीय योजना को ही लीजिए जिसका आज शिलान्यास होता और कार्य शुरू हो कर मियाद के अनुसार पूरा होता,लेकिन जिस तरह विरोध की बात सामने आ रही है उसके अनुसार सुनने को मिल रहा है कि आज उक्त निर्माण योजना का शिलान्यास नहीं होगा,ऐसे में यह कहने का एक बार फ़िर मन कर रहा है कि आख़िर पलामू गढ़वा में कब तलक सभी योजनाएं लेंगीं अंगड़ाई,क्या अभी भी होती रहेगी सउरी में ओझाई..?


Total view 618

RELATED NEWS