Bindash News || ड्रामा हुआ हाई वोल्टेज तो मामला फ़्यूज हो गया
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

ड्रामा हुआ हाई वोल्टेज तो मामला फ़्यूज हो गया

Bindash News / 10-10-2021 / 1631


कॉम्प्लेक्स से गरम हुआ माहौल,थाना आ कर ठंढा हुआ


आशुतोष रंजन
गढ़वा

अक़्सर हम आप अपने अपने घरों में एकाएक बढ़े बिजली के वोल्टेज के कारण बल्ब और कई उपकरणों को फ़्यूज होते,ख़राब होते देखते हैं,लेकिन कभी कभी कुछ ऐसा ही वोल्टेज किसी विषय को ले कर भी बढ़ता है,जिसका नतीज़ा होता है कि उक्त मामले को बल्ब की तरह फ़्यूज ही होना पड़ता है,जैसा कि आज झारखंड के गढ़वा जिला मुख्यालय में हुआ,आख़िर ऐसा क्या हुआ और किससे जुड़ा वो क्या मामला था,आइये बताते हैं।

तो मामला फ़्यूज हो गया:- ड्रामा हुआ हाई वोल्टेज तो मामला फ़्यूज हो गया",आप बेशक उस मामले के बारे में जानना चाह रहे होंगें तो आपको बताऊं की मामला जीपी प्लाजा मार्केट कॉम्प्लेक्स की मालकिन अंजना नारायण,बेटे निखिल और उनके दुकान किरायेदार मासूम खान से जुड़ा है,कल दोपहर बाद दुकान मरम्मती का पैसा मांगने पर दोनो के बीच विवाद कुछ यूं बढ़ा की बात मारपीट तक आ पहुंचा,अंजना और उनके बेटे निखिल द्वारा कहा गया कि मासूम खान और दुकान के अन्य स्टाफों द्वारा उनके साथ मारपीट की गयी,तो उधर मासूम की मानें तो अंजना और निखिल द्वारा भी उनके दुकान के सामान को बर्बाद किया गया,कॉम्लेक्स का झगड़ा देर शाम थाना आ पहुंचा,जहां शाम के अंधेरे से शुरू हुआ ड्रामे का वोल्टेज पल पल बढ़ता गया,दो रसूखदार परिवारों के बीच का झगड़ा थाना पहुंचा था तो स्वाभाविक है जिसे भी जानकारी होगी वो जानना चाहेगा सो जो जैसे ही सुना वो थाना आ पहुंचा,आपको बताएं कि शहर के बाज़ार और सड़कों से ज़्यादा भींड़ थाना आ पहुंचा,एक वक्त ऐसा आया कि इन दो परिवारों के बीच के झगड़े को हिंदू मुसलमान रूप दिया जाने लगा,तभी कुछ लोगों द्वारा थाना परिसर में ही नारेबाज़ी शुरू कर दिया गया,उन्हें बाहर करने पहुंचे पुलिस अधिकारियों के साथ कुछ लोगों द्वारा धक्का मुक्की की गयी,फ़िर उन्हें हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा,उधर सड़क पर हंगामा बरपा था तो इधर थाना के अंदर भी मामले का वोल्टेज बढ़ता जा रहा था,मैं बार बार वोल्टेज का ज़िक्र इसलिए कर रहा हूं कि एक ओर जहां दोनो परिवार के लोग वहां थे तो वहीं दूसरी ओर सत्तापक्ष और विपक्ष के लोग भी मौजूद थे,सो कोई चाह रहा था की मामले का पटाक्षेप हो तो किसी की चाहत थी कि मामला तूल पकड़े और कुछ अलग ही रूख़ अख़्तियार करे,लेकिन कई बार आवेदन लिखने और उसे फाड़ने के बाद देर रात एक ऐसा भी आवेदन लिखा गया जिसमें यह तय हुआ कि अब हमदोनो मामले को सुलझाएंगे,सो एसडीपीओ अवध कुमार यादव,शहर थाना प्रभारी कृष्णा कुमार और दोनो पक्षों की ओर से मौजूद शहर के प्रमुख व्यवसायियों की मौजूदगी में समझौता हो गया,तभी हमने लिखा कि ड्रामे का वोल्टेज कुछ यूं बढ़ा की आख़िर में एक बल्ब के माफ़िक मामला फ़्यूज हो गया।

Total view 1631

RELATED NEWS