Bindash News || वो चोर बड़ा ईमानदार था..
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

वो चोर बड़ा ईमानदार था..

Bindash News / 24-10-2021 / 2117


संदर्भ: जेवर दुकान से 50 लाख की चोरी मामला


आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
झारखंड के उस गढ़वा में जहां अक्सर राजनीतिक चर्चाएं होती रहती हैं,लेकिन वर्तमान गुज़रते वक्त में यह चर्चा गौण है,और हर ज़बान पर बस एक ही बात जो है,वो है चोरी,जी हां वही चोरी जो एक गहना दुकान में हुई है,हम आप चोरी की बात के साथ साथ अभी तक गिरफ़्तारी नहीं होने की चर्चा जरूर कर रहे हैं,पर क्या आप यह जानते हैं कि वो चोर तो था पर बहुत ईमानदार था,अब आप पूछियेगा की कैसे तो आइये अपने इस ख़ास ख़बर के जरिये आपको बताते हैं।
 
लेकिन बड़ा ईमानदार था:- वो चोर तो था,लेकिन बड़ा ईमानदार था,मेरा यह लिखना आपको बड़ा अजीब लग रहा होगा,क्योंकि आपके मन में एक सवाल जरूर कौंध रहा होगा कि वो चोर भी था और ईमानदार भी,भला यह कैसे संभव है,आपका सोचना बिल्कुल लाज़िमी है,लेकिन मेरा कहना भी ग़लत नहीं है,मैं ऐसा क्यों कह रहा हूं इस विषयक आपको बताऊं की उस चोर ने चोरी जरूर की लेकिन बेईमान नियत के साथ भी उसने ईमानदारी दिखायी,हुआ यूं कि वह यानी वो चोर चोरी करने की बदनीयती के साथ गहना दुकान ( किट्टू परी ज्वेलर्स ) में देर रात पहुंचता है,जहां वो दुकान में चोरी करता है,बताया जा रहा है कि वो सारा गहना एक मज़बूत आलमीरा से निकालता है,उसमें से सारा गहना निकाल कर उसने ख़ुद की बदनीयती दिखायी लेकिन उसी चोरी के वक्त ही उसकी ईमानदारी भी परिलक्षित हुई,हुआ यूं कि उसके द्वाराजिस आलमीरा से सोने के गहने निकाले गए,उसी आलमीरा में उसी जगह नक़द दो लाख रुपया और चांदी का गहना रखा हुआ था,जिसे उसके द्वारा छुआ तक नहीं गया,तभी तो यह सवाल खाये जा रहा है कि उसकी नियत ख़राब हुई तभी तो उसके द्वारा लाखो रुपये के गहने की चोरी की गयी,लेकिन बदनीयती के साथ साथ उसमें नेकनीयती और ईमानदारी कैसे जागृत हुई,जिसके द्वारा नक़द दो लाख रुपये और चांदी के सभी गहने छोड़ दिये गए..?
 

Total view 2117

RELATED NEWS