Bindash News || गढ़वा में हुआ "रौशनी घोटाला"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

गढ़वा में हुआ "रौशनी घोटाला"

Bindash News / 22-10-2018 / 1222


होगी जांच और कार्रवाई:डीसी

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
विकास की कल्पना के साथ गठित पंचायती राज व्यवस्था विकास से इतर घोटाले का केंद्र बन कर रह गया,विकास से गांव की तस्वीर भले ना बदल रही हो पर उस योजना राशि से पंचायत प्रतिनिधियों की तक़दीर जरूर संवर रही है,गाँव के विकास के निमित्त आयी 14 वीं वित्त योजना राशि को जमकर लूट रहे पंचायत प्रतिनिधि,योजना चयन के बाद धरातल पर बिना काम कराये राशि डकार लिए जाने का मामला पूर्व से था ही अब जांच में जो मामला उज़ागर हुआ है वह तो और चौकाने वाला है,जहां पंचायत प्रतिनिधि और ठेकेदार के गंठजोड़ ने रौशनी घोटाला कर डाला,यानी पंचायत में आये सोलर योजना को अमलीजामा पहनाए बगैर उसके भारी भरकम राशि की लूट कर डाली,आइये हमारे इस खास खबर के जरिये जानिए कहां हुआ घोटाला।
 
वादों से दूर हक़ीक़त:- उनका वादा था बदलेगी तस्वीर हमारी,पर बदलती तक़दीर उनकी दिख रही है,जी हां 32 सालों बाद राज्य में हुए पंचायत चुनाव को ले कर लोगों में अपनी हालात बदल जाने की आस जगी थी,पर वह आस धरी की धरी रह गयी,क्योंकि विकास की परिकल्पना के साथ गठित पंचायती राज व्यवस्था पुरानी ठेकेदारी और बिचौलियावादी प्रथा की भेंट चढ़ गयी,और साथ ही कुंद हो गया गाँव का विकास,ऐसी बात नहीं कि गाँव को विकसित करने के लिए पंचायत में राशि नहीं आयी,योजना राशि तो भारी भरकम आयी,पर उक्त सारी राशियों की बंदरबांट हो गयी,इसका खुलाशा गढ़वा में तब हुआ जब पंचायत में भेजी गयी 14 वीं वित्त योजना कार्य की जांच शुरू हुई,आपको यह जान कर बेहद आश्चर्य होगा कि जिला के कई पंचायतों में जब जांच हुई तो उक्त योजना राशि से योजना ली गयी,लेकिन सरजमीन पर बिना एक रोड़ा डाले ही मुखिया और उनके सहयोगियों द्वारा सारी राशि की निकासी कर ली गयी,मामला मझिआंव प्रखंड के मोरबे पंचायत से जुड़ा है जहां सड़क,नाली,गली को परे रखें तो पंचायत के गांव को सोलर की रौशनी से रौशन करने के लिए सोलर लाइट की योजना ली गयी,लेकिन विडंबना देखिये कहीं लाइट लगी तो जल नहीं रही और कहीं लगी तक नहीं,उधर ग्रामीण आज भी अंधेरे में रह कर सोलर से रौशन होने का बाट जोह रहे हैं।
 
मुखिया जी कह रहे झूठा है आरोप:- उधर पंचायत में सोलर लाइट लगाए जाने के लिए आयी योजना में राशि घोटाला किये जाने के सवाल पर पंचायत के मुखिया आदित्य ठाकुर द्वारा सिरे से इनकार किया जा रहा है,मुखिया का कहना है कि जितनी राशि आयी थी सभी का उपयोग करते हुए लाइट लगाया गया है।
 
सत्तापक्ष पर आरोप लगा रहा विपक्ष:- राज्य को विकास के ऊंचे पायदान पर ला खड़ा करने के सरकार के वादे के बीच में सामने आया यह घोटाला विपक्ष को बैठे बिठाए सरकार को घेरने का एक मौका दे दिया है तभी तो विपक्षी नेता सरकारी मुलाजिम से ले कर सरकार तक को घोटाले का सूत्रधार बता रहे हैं।
 
होगी जांच और कार्रवाई:- उधर जिले में कहीं से भी योजना में अनियमितता की शिकायत मिलने पर त्वरित कार्रवाई करने वाले उपायुक्त हर्ष मंगला इस बड़े मामले में भी करवाई किये जाने की बात कह रहे हैं,उनका कहना है कि मामला बहुत गंभीर है,जांचोपरांत दोषियों पर निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।
 
एक तरफ़ पुरानी ठेकेदारी प्रथा को ख़त्म कर पंचायती व्यवस्था से गाँव को विकसित करने का ख़ुद को कृतसंकल्पित बताती सरकार,उधर सरकार के नुमाइंदों के साथ गठजोड़ कर ठेकेदारी प्रथा के गांठ को और मज़बूत करते हुए,परिपाटी में कायम रखे हुए पंचायत प्रतिनिधि,नतीज़ा योजना राशि की लूट और विकास से कोसो दूर गाँव,ऐसे में ज़रूरत है नीचे से ऊपर तक एक बड़ी कार्रवाई की जिससे योजना राशि की लूट पर विराम लगे,और गाँव विकास से परिपूर्ण हो।
 

Total view 1222

RELATED NEWS