Bindash News || "इंदिरा" का विचार नहीं जाएगा "निष्फल",युवा कांग्रेस ने बांटा "पुण्यतिथि" पर फल
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"इंदिरा" का विचार नहीं जाएगा "निष्फल",युवा कांग्रेस ने बांटा "पुण्यतिथि" पर फल

Bindash News / 31-10-2018 / 647


परे रख कर ईमान,बस जुमला दुहरा रहे हुक्मरान:प्रभात दुबे

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
आज जहां एक तरफ़ पूरा देश एकता दौड़ में शामिल हो कर वल्लभ भाई पटेल की जयंती मनाते हुए उन्हें याद कर रहा था,लेकिन आज ही के दिन किसी की पुण्यतिथि भी है उसे भूल रहा था,सब कोई भुला लेकिन कांग्रेस ने याद रखा,जी हां देश की पूर्व प्रधानमंत्री और महिलाओं के लिए शुरू से प्रेरणास्रोत इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर इंदिरा गांधी को श्रधांजलि देते हुए उन्हें नमन किया गया,साथ ही पुण्यतिथि एक यादगार बने और जीवंत हो जाये इसलिए गढ़वा जिला युवा कांग्रेस द्वारा सदर अस्पताल परिसर में मरीजों के बीच फल और खाने का सामान बांटा गया।
तभी आएगा देश में नवप्रभात:- इंदिरा की बातों को जब करेंगें आत्मसात तभी देश में आएगा नवप्रभात",जी हां कुछ इस अंदाज में पुण्यतिथि के मौके पर अपनी भावना व्यक्त करते हुए गढ़वा जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष प्रभात दुबे उर्फ बड़ू दुबे ने कहा कि इंदिरा गाँधी भारत ही नही बल्कि संपूर्ण विश्व की नेता थीं,हम युवाओं को उनपे गर्व है कि जिन्होंने देश की एकता और अखंडता को बनाये रखने के लिए अपनी कुर्बानी दे दी मगर  देश को ना झूकने दिया और ना ही टूटने दिया,लेकिन अफसोस के साथ कहना पड़ता है कि वर्तमान की जुमलेबाज सरकार उनकी नीतियों और सिद्धांतों पर काश अमल कर पाती,कि किस तरह इंदिरा गांधी ने देश की एकता और अखंडता को बनाये रखा और एक मजबूत राष्ट्र की निर्माण मे अपनी संपूर्ण जीवन को खपा दिया,यह जानने योग्य है कि उन्होंने जब भी सोचा जब भी कुछ किया देश के लिए किया,लेकिन आज सबको सोचने की जरूरत है कि वर्तमान हुक्मरान द्वारा किसके लिए क्या किया जा रहा है।
 
पुकार रहा तन-मन,एक बार फिर इंदिरा चाह रहा वतन:- उधर मौके पर मौजूद प्रदेश प्रतिनिधि श्रीकांत तिवारी ने कहा कि आज अपने देश की स्थिति ऐसी हो गयी है कि एक बार फिर से वतन को इंदिरा की जरूरत आन पड़ी है,वर्तमान में राजनीति करने वाले राजनेता जुमला दुहराने वाले को अपना नेता मानने लगे हैं जबकि उन्हें भान नहीं है कि जिसे वो अपना नेता मान रहे हैं उन्हीं के पार्टी के आधार स्तंभ द्वारा इंदिरा गांधी को देश का नहीं बल्कि विश्व का नेता बताया गया था,इसलिए यह कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं होनी चाहिए कि इंदिरा का खून अभी भी देश में मौजूद है जिसका एक एक कतरा इस देश के लिए ही काम आएगा,इसलिए नेताओं को इंदिरा गाँधी के विचारों का अनुकरण करना चाहिए,उनके बताए रास्तों पर चलना चाहिए तभी एक माकूल मंजिल पाया जा सकता है।
ये रहे मौजूद:- श्रधांजलि कार्यक्रम के साथ साथ मरीज़ों के बीच फल वितरण करने के मौके पर कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष आशिक अंसारी,राहुल दुबे,राकेश सिंह,अजीज अंसारी,मुन्ना दुबे,संतोष सिंह सहित दर्जनों कांग्रेसी मुख्य रूप से मौजूद रहे।
 
 

Total view 647

RELATED NEWS