Bindash News || कानून निभावे अपना "फ़र्ज", करे "सीएम" पर मामला "दर्ज़"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

कानून निभावे अपना "फ़र्ज", करे "सीएम" पर मामला "दर्ज़"

Bindash News / 18-11-2018 / 1159


जो सरकार बेचे शराब,उसकी नियत होवे ख़राब:घुरण
 

आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
कानून निभावे अपना फ़र्ज,करे सीएम पर मामला दर्ज़,जी हां यह हम नहीं कह रहे बल्कि यह कहना है पलामू के पूर्व सांसद सह राजद के वरिष्ठ नेता घुरण राम का,उक्त बातें उन्होंने पारा शिक्षक और पत्रकार पिटायी मामले में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही,और क्या कहा पढ़िए इस रिपोर्ट में।

मांगा हक़,मिली लाठी:- अगर आप झारखंड में सत्तासीन वर्तमान सरकार और उसके मुखिया से कुछ हक़ मांगना चाहते हैं या उम्मीद लगाए बैठे हैं तो बिल्कुल उसे अपने दिल-दिमाग़ से निकाल दें,और नहीं तो पारा शिक्षक का हश्र देख लें जिन्होंने अपना हक़ मांगा तो उन्हें क्या मिला,आश्वासन के दो बोल की जगह उन्हें सैकड़ो लाठियां मिलीं,सरकार के मुखिया के इशारे पर उन्हें बर्बर तरीके से पीटा गया,नतीज़ा है कि वो आज गंभीर रूप से घायल हो कर इलाज़रत हैं।
 
क्या ग़लती थी पत्रकारों की:- आज सवाल उठ रहा है कि पारा शिक्षकों के साथ साथ वहां मौजूद पत्रकारों को क्यों निशाना बनाया गया,क्यों उन पर लाठियां बरसायी गयीं,तो हम यहां कहना चाहेंगे की पत्रकार वहां गलती कर रहे थे,और उनकी एकमात्र गलती थी बर्बर सरकार के असली चेहरे को अपने कैमरे में कैद करना,जी हां सांसद ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि आप यह क्यों भूल रहे हैं कि आप मुगलों से भी ख़तरनाक शासक के राज्य में पत्रकारिता कर रहे हैं तो खुद को संयम में रखिये,कलम की धार को तेज करने के बजाए उसे कुंद कर दें,और आपके सामने कुछ हो भी रहा है तो उसे नजर करने के बजाए नजरअंदाज कर दें,यह सब करना है तो पत्रकारिता करें नहीं तो लाठी खाने और उससे भी ज्यादा अंजाम भुगतने को तैयार रहें।

उसकी होवे नियत ख़राब:- जो सरकार बेचे शराब,उसकी होवे नियत ख़राब",जी हां घुरण राम ने कहा कि सरकार पर तीखे अंदाज में हमला बोलते हुए कहा की अजीब विडंबना है इस राज्य की जहां अल्प पारिश्रमिक मिलने के बावजूद घंटों पैरों पर खड़े हो कर विद्यादान देने वाले पारा शिक्षकों को आठ हजार और दुकान में मटरगश्ती कर शराब बेचने वाले को पच्चीस हजार,ऐसे हालात में इस सरकार से कुछ उम्मीद करना बेमानी नहीं पूरी बेईमानी है,तभी तो एक बार फिर से दुहराते हुए कहता हूं कि जो सरकार बेचे शराब,उसकी तो नियत होवे ख़राब।
 
हो प्राथमिकी दर्ज:- उधर घुरण राम ने प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि अपनी मांग को ले कर गुहार लगाने वाले पारा शिक्षक और निरीह पत्रकारों पर लाठी बरसवा कर सीएम ने बहुत ही घृणित और कायरतापूर्ण कार्य किया है,ऐसे कृत्य के लिए दिए गए आवेदन के आधार पर मुख्यमंत्री रघुवर दास पर नामजद प्राथमिकी दर्ज हो और कार्रवाई हो।
 

 

Total view 1159

RELATED NEWS