Bindash News || "सरकारी" कार्यों से उपजा "असंतोष",अनसन पर बैठे "संतोष"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"सरकारी" कार्यों से उपजा "असंतोष",अनसन पर बैठे "संतोष"

Bindash News / 15-01-2019 / 1040


लिया तो सबका साथ,पर कर रहे हो किसका विकास:हेमंत

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
उपजा सरकारी कार्यों से असंतोष,अनसन पर बैठे संतोष",जी हां बुनियादी से ले कर बड़े विकास योजनाओं के साथ साथ साधारण जरूरत से भी वंचित रहने वाले गरीबों की व्यथा से व्यथित हो कांडी थाना क्षेत्र के लमारी निवासी संतोष कुमार सिंह आमरण अनसन पर बैठ गए हैं,उधर आम दिनों में आवाम से दूर रहने वाला प्रशासन अनसन से भी उदासीन बना हुआ है,इधर अनसनकारी संतोष मांग पूरी नहीं होने तक अनसन जारी रखने के जिद्द पर अड़े हुए हैं,क्या है मांग जानने के लिए पढ़िए यह रिपोर्ट-
 
है यही लमारी की कहानी:- जहां रासन,बिजली और है ना पानी,है यही लमारी की कहानी",जी हां लमारी गांव जो अपने आप में पंचायत मुख्यालय भी है,कहने को यह गांव कांडी गढ़वा मुख्य सड़क पर अवस्थित है लेकिन विकास से कोसो दूर है,जहां के लोग रासन,पानी और रौशनी जैसी बुनियादी विकास से महरूम हैं।
 
विकास पहुंच नहीं रहा गांव:- दौड़ दौड़ कर शिथिल हो रहा शरीर और थक रहा पांव,फिर भी विकास पहुंच नहीं रहा गांव",अपने गांव सहित पूरे लमारी पंचायत को पूर्ण रूप से विकसित करने के साथ साथ पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक उसका हक पहुंचाने का संकल्प ले कर प्रखंड कार्यालय से ले कर जिला और राज्य के आलाधिकारियों के पास दौड़ दौड़ कर अनवरत गुहार लगाने वाले युवा संतोष का शरीर जहां शिथिल हो गया वहीं पांव भी थक गए लेकिन विकास कार्य को ले कर अधिकारियों का पत्थर दिल नहीं पिघला,नतीज़तन मरता क्या नहीं करता इसे आत्मसात करते हुए संतोष कुमार सिंह द्वारा पंचायत मुख्यालय पर आमरण अनसन शुरू कर दिया गया है।
 
तब तक नहीं करूंगा अनसन समाप्त:- नहीं होगा जब तलक सबको विकास प्राप्त,तब तक नहीं करूंगा अनसन समाप्त",जी हां दो दिनों से जारी इस आमरण अनसन को आखिर आप कब तलक समाप्त करेंगें पूछे जाने पर संतोष सिंह ने कहा कि रासन दुकानदार द्वारा गरीबों का हक मारा जा रहा है उन्हें दो मुट्ठी अनाज से भी वंचित रखा जा रहा है,उधर दशकों के अंधेरे से आजादी दिलाने के लिए बिजली का ताना बाना बुनना शुरू तो किया गया है लेकिन ठेकेदारों द्वारा इस कार्य में भी ठेकेदारी की जा रही है नतीज़ा है कि आज भी जलता हुआ बिजली का बल्ब देखना दिवास्वप्न बना हुआ है,दूसरी ओर सरकार हर गांव को ओडीएफ करने का शोर तो कर रही है लेकिन ऊपर से ले कर नीचे स्तर तक इसे ले कर कोई मॉनिटरिंग नहीं है फलतः यह महत्वपूर्ण योजना मूर्तरूप नहीं ले पा रहा है और ग्रामीण आज भी खुले में शौच जाने को विवश हैं,आंकड़ों की बात करें तो पंचायत में अभी तक मात्र 150 शौचालय का निर्माण हो सका है जिसमें 100 मनरेगा योजना से तथा 50 स्वच्छ भारत मिशन से निर्मित हुआ है,उधर एक और विडंबना देखिये मनरेगा से बने 100 शौचालयों में से मात्र सात लाभुकों को ही निर्माण राशि का भुगतान किया गया है,शेष लाभुकों का भुगतान पिछले कई महिनो से लंबित है,जबकि सैकड़ो परिवारों के घर में अभी तक शौचालय नही बना है,वहीं सैकड़ों लोग विभिन्न पेंशन के लाभ से भी वंचित हैं,साथ ही कहा कि सरकार और सरकारी महकमे की नीयत यहां बेमानी नहीं बल्कि बेईमानी लगती है क्योंकि सबको पक्का आवास देने की बात तो दुहरायी जा रही है लेकिन उस पर अमल नहीं किया जा रहा है जिसका परिणाम है कि इस लमारी पंचायत में सैकड़ो ग़रीब परिवार कच्चे,जर्जर और छोटे छोटे सीलन भरे कमरों में बड़े बड़े परिवारों के साथ रहने को विवश हैं,बस लोगों की ऐसी ही व्यथा से व्यथित हो कर मेरे द्वारा आमरण अनसन शुरू किया गया है,जहां तक अनसन ख़त्म करने की बात है तो जब तलक नहीं होगा सबको उनके हक़ का विकास प्राप्त,तब तक नहीं करूंगा अनसन समाप्त।"
 
सबका साथ पर किसका विकास:- अपने तीसरे चरण के संघर्ष यात्रा के तीसरे दिन की अंतिम यात्रा के साथ कांडी प्रखंड क्षेत्र में जाने के दौरान लमारी गांव से गुजरने के क्रम में अनसन स्थल पर पहुंचे जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अनसनकारी संतोष सिंह से कहा कि सबको विकास से महरूम रख जान देने को मजबूर करने वाली वर्तमान भाजपानीत सरकार के राज्य में ऐसे अनसन कर के जान देने से कोई फ़ायदा नहीं होने वाला क्योंकि ना तो इसका असर सरकार पर पड़ेगा और ना ही आपके दर्द का अहसास इस बेदर्द सरकारी अधिकारियों को होगा,इसलिए या तो अपने अधिकार को छिनें या जेएमएम की सरकार आने तक इंतज़ार करें,जब आपको अपने हक के लिए किसी के पास दौड़ लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी आपका हक आपको बिन मांगे मिलेगी,क्योंकि जेएमएम की सरकार इस भाजपा सरकार जैसी नारा नहीं लगाती की सबका साथ और सबका विकास,लेकिन आज हमारे साथ साथ पूरे राज्य का आवाम पूछ रहा है कि "लिया तो सबका साथ,पर कर रहे हो किसका विकास।"
 
 

Total view 1040

RELATED NEWS