Bindash News || लूट "80 हजार",बरामद "42 हजार"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

लूट "80 हजार",बरामद "42 हजार"

Bindash News / 16-01-2019 / 827


गढ़वा में लुटेरे गिरफ्तार

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
सड़क लुटेरों द्वारा दिन के उजाले में लूट की घटना को अंजाम दे कर दी गयी चुनौती को स्वीकार कर पुलिस ने छापामारी शुरू की और लुटेरों को गिरफ़्तार कर लिया,कहां हुई थी लूट और कैसे हुई गिरफ्तारी पढ़िए इस रिपोर्ट में
 
यही हैं वो लुटेरे:- चेहरा ढंके और हंथकड़ी में जकड़े ये वही दोनो लुटेरे हैं जिनके द्वारा अपने एक और साथी के साथ मिल कर पिछले बारह तारीख़ की शाम में लूट की घटना को अंजाम दिया गया था,आपको बताएं कि पलामू के एक व्यवसायी का मुंसी बिक्री का पैसा ले कर वापस पलामू लौट रहा था कि मेराल थाना क्षेत्र के पढ़ुआ मोड़ पर एक मोटरसाइकल पर सवार तीन लुटेरों द्वारा हथियार का भय दिखा कर उससे रुपये लूट लिया गया।
 
चार दिन में हो गए लुटेरे गिरफ़्तार:- गिरफ़्तारी को ले कर पुलिस की बढ़ी रफ़्तार, और चार दिन में लुटेरे हो गए गिरफ़्तार",जी हां लूट की घटना के बाद लुटेरों की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस ने प्रयास तेज किया और मोबाइल लोकेसन के आधार पर तीन लुटेरों में से दो को गिरफ़्तार कर लिया गया,डीएसपी मुख्यालय संदीप गुप्ता ने बताया कि लुटेरों के एक और साथी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है,उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
 
बरामद हुआ 42 हजार:- लूट हुआ 80 हजार,और बरामद हुआ 42 हजार,उक्त लूट की घटना में गिरफ्तारी के साथ लुटेरों के पास से बरामदगी भी हुई है,बरामद के बावत मुख्यालय डीएसपी संदीप गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि लुटेरों द्वारा मुंसी से कुल 80 हजार रुपये लुटा गया था लेकिन इन गुजरे चार दिनों में और रुपये लुटेरों ने खर्च कर दिया,जबकि 42 हजार रुपया इनके पास से बरामद किया गया,रुपये के साथ साथ मोबाइल फोन और लूट में प्रयुक्त हुई मोटरसाइकल भी बरामद हुआ।
 
इनकी रही मुख्य भूमिका:- लूट की घटना कर बाद एसपी शिवानी तिवारी द्वारा मुख्यालय डीएसपी संदीप गुप्ता के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया जिसमें इंस्पेक्टर संदीप रंजन और मेराल थाना प्रभारी गुप्तेश्वर तिवारी भी शामील रहे और टीम द्वारा घटना के मात्र चार दिन बाद ही लूट कांड का उदभेदन कर दिया गया।
 

Total view 827

RELATED NEWS