Bindash News || "बादल" मुट्ठी में
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"बादल" मुट्ठी में

Bindash News / 01-02-2019 / 981


एसपी की तल्ख़ बोली,करें सरेंडर वरना नहीं बख्शेगी हमारी गोली

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
देखिये गढ़वा में,बादल आ गया मुट्ठी में,आप सोच रहे होंगें ऐसा कैसे,भला यह गढ़वा जैसे इलाकों में कैसे संभव हो सकता है,लेकिन ऐसा हो गया,दरअसल हम शिमला के उस पहाड़ी इलाके के बादल की नहीं बल्कि एक व्यक्ति जो बड़ा नक्सली है उसकी बात कर रहे हैं जिसका नाम बादल है और वह आज पुलिस की मुट्ठी में आ गया है,कैसा था वह नक्सली और किस बड़े घटना को अंजाम दिया था उसने जानने के लिए पढ़िए यह ख़ास रिपोर्ट-
 
देखिये यही है वह बादल:-चेहरा ढंके और हंथकड़ी से जकड़े कभी पुलिस की गिरफ्त में खड़ा तो कभी वाहन पर बैठा यह वही माओवादी नक्सली बादल है जिसे पुलिस गिरफ़्तार करने में सफलता पायी है,अपने दस्ते का क्रूर नक्सली माने जाने वाले इस बादल द्वारा ही पिछले दिनों गढ़वा जिले के खपरी महुआ नामक जगह पर बारूदी सुरंग बिस्फोट कराया गया था जिसके जद्द में आ कर 6 पुलिस जवान शहीद हो गए थे,उक्त बड़ी घटना के साथ साथ कई और नक्सली घटनाएं बादल के नाम दर्ज हैं।
 
आज पूरी हुई आस:- कब से जारी था प्रयास,आज पूरी हुई आस",जी हां खपरी महुआ घटना के बाद पुलिस इसकी गिरफ़्तारी के लिए लगातार प्रयासरत थी जिसमें आज सफ़लता मिल गयी,और इसे उसी नक्सल प्रभावित क्षेत्र भंडरिया के जंगलों से गिरफ्तार कर लिया गया।
 
नक्सली हुए हैं कमजोर:-नक्सल उन्मूलन को ले कर अनवरत जारी है पुलिसिया जोर,नक्सली हुए हैं कमज़ोर",गिरफ़्तारी से आह्लादित पुलिस कप्तान शिवानी तिवारी कहती हैं कि ऐसे तो नक्सली संगठन पुलिसिया कार्रवाई से कमजोर होने के साथ साथ बिखर ही रहा है लेकिन इस बादल के गिरफ्त में आ जाने से माओवादी संगठन पर बड़ा असर पड़ेगा,साथ ही एसपी ने कहा कि जहां एक तरफ हम पूरे गढ़वा जिले को नक्सल मुक्त करने के अभियान में लगातार रत हैं लेकिन हमारा विशेष ध्यान बूढ़ा पहाड़ को नक्सलियों से आजाद कराना है,जिसमें हमारी पुलिस टीम लगातार सफल हो रही है,नतीज़ा है कि पुलिसिया ख़ौफ़ से ख़ौफ़ज़दा हो जहां एक तरफ नक्सली संगठन में तेजी से बिखराव हो रहा है वहीं दूसरी ओर नक्सली सरेंडर कर रहे हैं,साथ ही साथ पुलिस से बचने के ख्याल से इधर उधर भागने के दौरान उन्हें गिरफ़्तार किया जा रहा है,एसपी ने नक्सलियों से अपील करते हुए कहा कि अभी भी वक्त है आप सरेंडर कर मुख्यधारा के हमराह बनें,नहीं तो हमारी गोली किसी सूरत में आपको नहीं बख्शेगी।
 
इनकी रही भूमिका:- गिरफ्त में आये नक्सली बादल के जंगली इलाके में आने के बावत एसपी शिवानी तिवारी को सूचना मिली थी उसी सूचना के आलोक में एसपी द्वारा एएसपी सदन कुमार और रंका डीएसपी विजय कुमार के नेतृत्व में तत्काल एक पुलिस टीम का गठन किया गया जिसमें भंडरिया थाना प्रभारी शंभु गुप्ता भी शामिल रहे और बादल को उक्त पुलिसिया टीम ने अपनी मुट्ठी में ले लिया।
 
 

Total view 981

RELATED NEWS