Bindash News || "पंडित" ने की ऐसी "भविष्यवाणी",ख़त्म हो रही "महिला" की "जिंदगानी"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"पंडित" ने की ऐसी "भविष्यवाणी",ख़त्म हो रही "महिला" की "जिंदगानी"

Bindash News / 30-07-2019 / 1276


ऐसा भी अंधविश्वास


आशुतोष रंजन
गढ़वा

आज भी अपना देश इक्कीसवीं सदी में भले जीवन बसर कर रहा है पर अब भी लोग भविष्य के साथ साथ कुछ पाने के लिए पंडित,द्वारा बताए और सुझाये रास्तों पर चलना पसंद करते हैं लोग उनकी बातों पर इस कदर विश्वास जताते हैं कि उन्हें यथार्थ में होने वाले सारे कार्य उनके द्वारा ही कराया जाना प्रतीत होता है तभी तो एक पति द्वारा अपनी गर्भवती पत्नी की पिटाई मात्र इसलिए कर दी गयी क्योंकि उसे उसके पंडित जी ने बताया कि इस बार भी उसकी पत्नी बेटा नहीं बल्कि बेटी ही जनेगी,वह अभागन आज गंभीर हालत में अस्पताल में इलाजरत है,कहां का है यह मामला आइये हम इस रिपोर्ट के जरिये आपको बताते हैं।

क्या ऐसा होता है ?:- जिस तरह हमारी आपकी किस से शादी होनी है इसका निर्णय हो चुका होता है ठीक इसी तरह आप बेटे के बाप बनेंगें या बेटी के पिता यह  भी भगवान ही तय करते हैं पर इसे आज कुछ ही लोग मानते हैं,कुछ लोग आज भी भविष्य बताने वाले उस पाखंडी पंडित की बातों पर विश्वास करते हैं जिसे खुद के भविष्य की चिंता सताते रहती है,मगर लोग आज उसकी बातों पर आंख बंद कर यक़ीन कर रहे हैं,लेकिन उन्हें इसका तनिक भी आभास नहीं है कि उनका यह विश्वास है बस कोरा अंधविश्वास।

आज ख़त्म हो रही उसकी जिंदगानी:- पंडित ने की कुछ ऐसी भविष्यवाणी,जिससे आज ख़त्म हो रही उसकी जिंदगानी",जी हां झारखंड के गढ़वा जिले में एक पति ने अपनी गर्भवती पत्नी को पीटकर घायल कर दिया,हम बात कर रहे हैं जिले के मझिआंव थाना क्षेत्र के पुरहे गांव की जहां रहने वाला एक व्यक्ति एक पंडित के पास पहुंचता है और वह उनसे यह जानना चाहता है कि उसकी पत्नी गर्भवती है क्या इस बार बेटा होगा,तो पंडित जी के द्वारा बताया जाता है कि इस बार भी उसकी पत्नी बेटा नहीं बल्कि बेटी ही जनेगी,इतना सुनते ही वह उसकी भाव भंगिमा पूरी तरह बदल जाती है और वह सीधे घर को लौटता है जहां पत्नी द्वारा पीने के लिए पानी देते ही वह ग्लास फेंक उस पर टूट पड़ता है और उसकी बुरी तरह पिटाई कर देता है नतीज़ा होता है कि गर्भावस्था में पिटाई से वो गंभीर रूप से घायल हो जाती है जिसे घरवालों द्वारा इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया जाता है जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों द्वारा रिम्स रांची रेफर कर दिया गया है।

अब यहां क्या करेगा प्रशासन:-भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध पर लगाम लगाने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा इन दिनों जिले में कई अक्ट्रासाउंड सेंटरों पर दबिश दी गयी क्योंकि जानकारी हुई थी कि उक्त सेंटरों में लिंग जांच किया जाता है,इस आरोप में कई सेंटरों को सील भी किया गया,लेकिन सवाल उठता है कि अब यहां प्रशासन क्या करेगा जहां पाखंडी पंडितों द्वारा भविष्य बताने पर गर्भवती महिलाओं पर कहर टूट रहा है और वो जिंदगी और मौत से जूझ रही हैं ?

Total view 1276

RELATED NEWS