Bindash News || वह "लड़की" तो बहुत "शातिर"निकली
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

वह "लड़की" तो बहुत "शातिर"निकली

Bindash News / 04-08-2019 / 1709


छात्रा ने स्कूली खाते से उड़ाए लाखों रुपये,हुई गिरफ़्तार गयी जेल


आशुतोष रंजन
गढ़वा

बहुत गुमसुम रहने वाली,घर में केवल घर का काम और स्कूल में केवल पढ़ायी पर ध्यान केंद्रित करने वाली,किसी से मेलजोल कम रखने वाली लड़की इतनी शातिर निकलेगी इसका अंदाज़ा उस मां बाप को भी नहीं था जिसने उसे जन्म दिया था,उधर उसके स्कूल के शिक्षक भी बड़े अचरज़ में हैं की आखिर वह लड़की एकाएक इतनी बड़ी शातिर कैसे हो गयी,आखिर क्या है मामला आइये इस रिपोर्ट के जरिये आपको बताते हैं।

वह लड़की इतनी शातिर कैसे हो गयी:- अपने दोस्त के साथ खड़ी यह वही लड़की है जिसकी बात हम यहां कर रहे हैं,झारखंड के गढ़वा जिले की यह लड़की जो अभी मध्य विद्यालय टाटीदिरी की छात्रा है लेकिन काम उसने शातिराना कर डाला है,उसके द्वारा किये गए शातिर काम के बावत आपको बताऊं की उसके आधार का नंबर स्कूल प्रबंधन की गलती से स्कूल के बैंक खाता से जुड़ गया,उधर इसकी जानकारी लड़की ज्योति को हुई तो वह शिक्षक को बताने की जगह इसकी जानकारी प्रज्ञा केंद्र संचालक दोस्त दानिश को दी,और फिर दोनो ने स्कूल की राशि को निकालने का निर्णय किया,और कुल नौ बार में ज्योति द्वारा 6 लाख 47 हजार रुपये की निकासी की गयी,उसने इतने कम उम्र में काम शातिराना जरूर किया लेकिन उसे इस बात का तनिक भी इल्म नहीं था कि उसके द्वारा रुपये के निकासी की ख़बर स्कूल प्रबंधन को हो जाएगी,और जैसे ही स्कूल को इसकी जानकारी हुई प्रबंधन ने ज्योति को इंगित करते हुए जांच का आवेदन पुलिस को दे दिया,उधर पुलिस भी जांच में जुट गयी।

वह दोस्त के साथ हुई गिरफ़्तार,गयी जेल:- उधर स्कूल प्रबंधन द्वारा आवेदन मिलने के साथ ही मामले की गंभीरता को समझते हुए धुरकी थाना पुलिस द्वारा जांच शुरू की गयी,जानकारी देते हुए डीएसपी नीरज कुमार ने बताया कि जांच में उक्त प्रज्ञा केंद्र से निकासी किये जाने का मामला सामने आ गया,जब हमने उसके संचालक दानिश को हिरासत में ले उससे सख़्ती की तो उसने ज्योति की सारी कारस्तानी कह डाली,फिर तत्काल ज्योति को भी गिरफ़्तार कर लिया,अब हमारे सामने उस रुपये की बरामदगी की चुनौती थी जो ज्योति द्वारा निकाले गए थे,पूछे जाने पर पहले तो उसने कुछ भी बताने से इनकार किया लेकिन महिला पुलिस अधिकारी द्वारा सख़्ती से पेश आने पर उसने बताया कि वह सारे रुपये उसने बहन के यहां रखे थे,जहां 3 लाख रुपये उसके बीमार बहनोई के इलाज में खर्च हो गए,हम उसकी बहन के यहां पहुंचे जहां से हमें तीन लाख 47 हजार रुपये बरामद हुए,रुपये बरामदगी और सारी जानकारी हासिल करने के बाद दोनो को जेल भेज दिया गया।

एक स्कूली छात्रा द्वारा किये गए इतने बड़े शातिराना हरक़त ने लोगों को सोचने पर विवश कर दिया है कि वर्तमान में गुजर रहा यह डिजिटल युग बच्चों को आख़िर किस राह पर ले जा रहा है ?

 

Total view 1709

RELATED NEWS