Bindash News || "फब्तियां" मोहब्ब्त नहीं "नफ़रत" बढ़ाती हैं
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"फब्तियां" मोहब्ब्त नहीं "नफ़रत" बढ़ाती हैं

Bindash News / 06-08-2019 / 1028


तो आइए नफ़रत भुला कर मोहब्ब्त निभाया जाए:ज्योति


आशुतोष रंजन
गढ़वा

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने से देश पूरा जश्न में डूबा हुआ है,बम पटाखा फोड़े जाने के साथ साथ लोग एक दूसरे को मिठाई खिला कर खुशियां ज़ाहिर कर रहे हैं लेकिन इन्हीं खुशियों के बीच कुछ लोगों द्वारा ऐसी बातें कही जा रही हैं जो कहीं से भी उचित नहीं है,उक्त बातें गढ़वा के युवा व्यवसायी सह समाजसेवी ज्योति प्रकाश ने कही,उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक फैसले को सही साबित करना भी हमारी जिम्मेदारी है,भाषायी संयम बनाए रखें,कश्मीरवासियों को भी यह अहसास करवाएं कि हम आपके साथ हैं,प्लॉट खरीदने जैसे लालची उपहास बनाकर घृणा मत बोइये,यह कोई कबड्डी का मैच नहीं था जो कोई हार गया है और उसे "हार गया जी हार गया" कहकर चिढ़ाया जा रहा है,ऐसे संवेदनशील मुद्दों पर देश को एक रहना चाहिये,ऐसे फैसले कभी किसी पार्टी के हित-अहित के नहीं होते बल्कि देश के लिए होते हैं,जिस दिलेरी और भाव से फैसला लिया गया है उसे सही साबित कीजिये ना कि फब्तियां कसिये क्योंकि फब्तियां कभी भी मोहब्बत के बीज नहीं बो सकती वो नफरत ही पैदा करेगी,एक दूसरे को यहां इस मौके पर गले लगाइये,ऐसा व्यवहार मत कीजिये जिसमें लगे कि किसी राज्य या देश पर विजय प्राप्त की है,बल्कि वो व्यवहार कीजिये जो यह अहसास कराये कि हम अपने ही घर में हैं,तो आइए "अब नफ़रत को भुला कर मोहब्ब्त निभाया जाए,अलग हो कर नहीं बल्कि एक साथ हो कर जश्न मनाया जाए।"

Total view 1028

RELATED NEWS