Bindash News || "गढ़वा" से बरामद हुई, "खातून" बंगाल की
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

"गढ़वा" से बरामद हुई, "खातून" बंगाल की

Bindash News / 28-08-2019 / 2046


पुलिस को मिली बड़ी सफलता


आशुतोष रंजन
गढ़वा

हम आप अक्सर सुना करते हैं कि कानून के हाथ लंबे होते हैं,यह आज उस वक्त नुमाया हुआ जब एक लड़की को ख़ोज रही पश्चिम बंगाल पुलिस आज झारखंड के गढ़वा पहुंच उसे बरामद कर लिया,कौन थी वह लड़की,क्या कारण था उसके भागने का और साथ ही उसकी बरामदगी कहां से हुई आइये आपको इस रिपोर्ट के जरिये बताते हैं।

प्रेम में होता है सब जायज़:-नहीं होता है कुछ भी नाजायज़,प्रेम में होता है सब जायज़",तभी तो पश्चिम बंगाल के बलरामपुर गांव की रवि ख़ातून का दिल एक हिन्दू लड़का जो गढ़वा जिले के शिवपुर गांव का रहने वाला है उस पर आ गयी,जब लड़के को मालूम चला तो वह भी ख़ातून के प्रति आशक्त हुआ और दोनो में पहले ताका झांकी शुरू हुई जो आगे चलकर प्यार में बदल गयी,दोनो समाज में जड़वत जाती बंधन को दरकिनार कर एक दूसरे के प्यार में खोने लगे और दोनो का प्यार परवान चढ़ने लगा,कभी छुप छुपा कर मिलने वाले दोनो अब घंटों साथ बैठ प्यार मनुहार की बातें करने लगे,इसी बीच दोनो ने साथ जीने मरने की कसमें खायीं और एक दूजे के हो जाने का मन बना लिया,लेकिन उनके बीच परिवार बाधक बनता,सो दोनो ने भाग जाने का निर्णय किया और फिर गुजरे फरवरी माह में लड़की घर से भाग कर अपने प्रेमी के पास पहुंची और दोनो वहां से भाग कर झारखंड के गढ़वा जिला में अवस्थित प्रेमी के गांव शिवपुर पहुंच गए,लेकिन यहां भी दोनो को शुरुआत में परेशानियां झेलनी पड़ीं लेकिन बाद में सब ठीक हुआ और दोनो आधुनिक परंपरा का निर्वहन करने लगे यानी बिना शादी के लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे।

गढ़वा से हुई बरामद:- खातून बंगाल की गढ़वा से हुई बरामद",इश्क मुश्क छुपाए नहीं छुपता सो लड़की के प्यार की खबर उसके परिजनों को हो गयी थी,जब तक वो कुछ करने का निर्णय करते तब तक लड़की उनके हाथों से निकल गयी,लेकिन उसके भागते ही पहले तो उसकी खोजबीन में परिजन भटकते फिरते रहे लेकिन कुछ ही दिनों बाद पुलिस को सूचना दी,सूचना पाते ही पुलिस अपने तरीक़े से उसकी खोजबीन में लग गयी,जहां एक तरफ प्रेमी प्रेमिका द्वारा साथ रहने के लिए आधुनिकता का सहारा लिया गया तो वहीं पुलिस द्वारा भी उसे खोजने के लिए आधुनिक पद्धति को आजमाया गया,यानी कि मोबाइल ट्रैकिंग तकनीक के जरिये पुलिस यह जान गयी कि लड़की बंगाल में नहीं बल्कि झारखंड में है,फिर क्या था उसी मोबाइल लोकेशन को ट्रैक करते हुए बंगाल पुलिस गढ़वा जिले के शिवपुर गांव में पहुंची,और सीधे उस लड़की के पास पहुंच गयी क्योंकि जिस मोबाइल को पुलिस ट्रैक कर रही थी उसका इस्तेमाल लड़की द्वारा ही किया जा रहा था,गढ़वा पुलिस को साथ ले कर पहुंची बंगाल पुलिस उक्त लड़की के साथ साथ वह जहां रह रही थी यानी रामनाथ राम सहित सभी घरवाले से पूछताछ करने के उपरांत लड़की को साथ लेती गयी,लेकिन पुलिस के हाथ वह प्रेमी लड़का राजा बाबू नहीं आ सका जिसके द्वारा लड़की को भगा कर लाया गया था,जाते जाते पुलिस परिजन को तल्ख़ लहज़े में कहती गयी कि जल्द से जल्द उसकी बरामदगी करावें इसी में आप परिजनों की भलाई है।

ये रहे शामिल:- बंगाल से भाग कर झारखंड के गढ़वा आयी नाबालिग़ लड़की रवि खातून को बरामद करने वाले अभियान में मुख्य रूप से कांडी थाना के एएसआई प्रभु प्रसाद मेहता व संजय राम के अलावे बंगाल की महिला पुलिस व अन्य पुलिस पदाधिकारी शामिल रहे।

Total view 2046

RELATED NEWS