Bindash News || बिहार में "विवाह", तो झारखंड में "तलाक" क्यों..?
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

बिहार में "विवाह", तो झारखंड में "तलाक" क्यों..?

Bindash News / 15-09-2019 / 1502


गढ़वा में जदयू का सम्मेलन

जनता देगी भाजपा को तिलांजलि कह रहे पातंजलि


आशुतोष रंजन
गढ़वा

झारखंड में महज कुछ ही दिनों में चुनावी बिसात बिछने वाली है देश के राजनीतिक पार्टियों की नजर अब झारखंड पर टिकी हैं,कार्यकर्ता सम्मेलन के बहाने अपनी स्थिति भांपने की शुरुआत पहले खुद जहां सत्तासीन पार्टी बीजेपी ने की फिर राजद और अब जदयू की नजर इस झारखंड पर पड़ी है जिसका केंद्र रांची न होकर गढ़वा हो गया है क्योंकि पिछले तीन दिनों में बिहार के कई दिग्गज नेता गढ़वा पहुंचे जहां उनके द्वारा एक दूसरे पर ज़बानी तीर छोड़े गए,इसी कड़ी में आज जदयू का एक दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन गढ़वा के उत्सव गार्डेन में सम्पन्न हुआ जिसमें बिहार जदयू के मंत्री एवं राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने शिरकत किया,अब इनके द्वारा सम्मेलन के बहाने क्या कहा गया आइये जानने के लिए पढ़िए यह रिपोर्ट-

हम यहां नहीं करेंगें गठबंधन:- यह जनसमूह गढ़वा में जदयू के बढ़ते कुनबे को परिलक्षित करने के लिए काफी है,जब से झारखंड में जदयू के सिंबल को निर्वाचन आयोग ने बैन किया है तब से जदयू अपनी साख को और मजबूत बनाने की कवायद शुरू कर दिया है,साथ ही झारखंड की सभी सीटों पर लड़ने का दावा कर रही है ताकि उसकी साख बरकरार रहे क्योकि अब उनके चुनावी निशान को निर्वाचन आयोग ने बदल दिया है,बिहार में भाजपा के साथ रहते हुए भी सम्मेलन को संबोधित करने के क्रम में बिना किसी लाग लपेट के बिहार में समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह ने कहा कि हम यहां गठबंधन नहीं करेंगें झारखंड के सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे,हमारी चुनाव चिन्ह इसलिए बदल गया क्योंकि एक बार इसी तीर धनुष के चक्कर मे हमारी पार्टी चुनाव में गढ़वा सीट हार गई थी,लेकिन अब हमें जमीनी चुनाव चिन्ह मिला है यानी ट्रैक्टर से हल चलाता किसान,जो झारखंड के चुनाव में हमें विशेष लाभ दिलाएगा,एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बीजेपी से हमारा गठबंधन बिहार और केंद्र में है देश के अन्य राज्यो में हम अकेले चुनाव लड़ते हैं,यह कोई नया नही है,हमारी पार्टी का सिद्धांत अलग है और उनका तो और जुदा है।

हो जाएगा कल्याण:- करिये नीतीश के कार्यों का बखान,हो जाएगा कल्याण",हम ऐसा इसलिए कहे कि आज के कार्यकर्ता सम्मेलन में माइक पकड़ते ही राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह नीतीश कुमार की तारीफ में इतने जुटे की वे केवल 15 मिनट सिर्फ नीतीश कुमार के बिहार में कार्यो की तारीफ़ करते रहे,चाहे रेल मंत्री रहते उनके कार्यो का बखान हो,या सात निश्चय की चर्चा हो,बिहार में सर प्लस बिजली की बात हो,कुल मिला कर उन्होंने कहा कि आप केवल नीतीश कुमार के कार्यो की बखान करिए आप चुनाव जीत जाइएगा।

जनता देगी भाजपा को तिलांजलि कह रहे पातंजलि:- उधर कार्यकर्ता सम्मेलन में मुख्य आयोजक और समाजसेवी सह जदयू नेता पातंजलि केशरी ने कहा कि सत्तापक्ष यानी भाजपा लाख जबान से विकास का ढिंढोरा पिट ले लेकिन जमीनी हक़ीक़त बिल्कुल स्याह है,आज भी सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोग विकास की राह ताक रहे हैं,आज भी लोग स्वास्थ्य के मामले में काफी पीछे हैं,सरकार बड़ा बड़ा भवन तो बना दी है पर वह अब तक अस्पताल के रूप में परिणत नहीं हो सका,और सरकार सबका साथ और सबका विकास अब तो सबका विश्वास कहते नहीं थकती,लेकिन जनता सबकुछ देख और समझ रही है,जिसका प्रमाण आने वाले विधानसभा चुनाव में देखने को मिलेगा।

झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को ले कर जदयू सम्मिलित गान गाने के बजाए अलग राग अलाप रही है नेताओं के अनुसार वह राज्य के सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगें,ऐसे में यहां यह सवाल उठना लाजिमी है कि "बिहार में विवाह तो झारखंड में तलाक क्यों..?

Total view 1502

RELATED NEWS