Bindash News || बड़े दिखा रहे "ठेंगा", और बच्चे दे रहे "ठोंगा"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

बड़े दिखा रहे "ठेंगा", और बच्चे दे रहे "ठोंगा"

Bindash News / 24-09-2019 / 1408


अभियान तभी पायेगा मुक़ाम,जब पहल करेगा आवाम कह रहे परशुराम


आशुतोष रंजन
पलामू

आज सरकार और सरकारी महक़मा प्लास्टिक पर पाबंदी लगाने हेतु लोगों को लाख जागरूक करे फिर भी पाबंदी लगता नहीं दिख रहा है,आज भी दुकानों के साथ साथ सब्जी बाजारों में कुछ बिक्रेताओं द्वारा पहल भले की जा रही हो लेकिन उस दुकान और सब्जी बाजार तक पहुंचने वाले बड़े अमल नहीं कर रहे हैं,इतनी जागरूकता के बाद भी बड़ों को साथ में थैला ले जाने में झिझक महसूस हो रहा है,ऐसे में अपने बड़ों को आज बच्चों ने संदेश देने का काम किया है,किस तरह से बच्चों ने प्लास्टिक से मुक्ति पाने का संदेश दिया आइये आपको इस ख़ास खबर के जरिये बताते हैं।

पर बच्चों ने दिया संदेश दे कर ठोंगा:- प्लास्टिक मुक्ति अभियान को बड़े भले दिखा रहे हों ठेंगा,पर बच्चों ने दिया संदेश दे कर ठोंगा",जी हां आज पलामू जिले में अवस्थित एक विद्यालय के बच्चों ने प्लास्टिक के उपयोग से मुक्ति पाने के निमित अनोखा संदेश दिया है,हम बात कर रहे हैं जिले के सदर प्रखंड अंतर्गत रजवाडीह मध्य विद्यालय में अध्यनरत बच्चों की जिनके द्वारा प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने के लिये  जागरूकता का नायाब तरीका अपनाते हुए पहले विद्यालय में कागज का ठोंगा बनाया और फिर उसे एक दुकानदार श्यामदेव राम उर्फ भगत जी को भेंट किया,इस दौरान भगत जी काफी खुश दिखे और उन्होंने इस पहल की सराहना की,साथ ही अब से प्लास्टिक के थैले में सामग्री नहीं बेचने के लिये बच्चों को विश्वास भी दिलाया,उधर जागरूकता व हुनरमंदी को लेकर शिक्षिका प्रियंका कुमारी एवं पूनम रानी ने बच्चों को पहले ठोंगा बनाना सिखाया और फिर उनसे बनवाकर देखा,बच्चों ने इस गतिविधि में खूब आनंद लिया। इस क्रम में उन्हें प्लास्टिक से होनेवाले नुकसान के प्रति सचेत भी  किया गया।

जब पहल करेगा आवाम:-यह अभियान तभी पायेगा मुक़ाम जब पहल करेगा आवाम",जी हां इस पंक्ति के साथ विद्यालय के प्रधानाध्यापक परशुराम तिवारी ने इस मौके पर कहा कि प्लास्टिक के बेतहाशा उपयोग से मिट्टी,जल व वायु प्रदूषित हो रहे हैं,यत्र तत्र बिखरे प्लास्टिक जानवरों के लिये भी जानलेवा साबित रहे हैं,बरसात में प्लास्टिक से नाले का जाम हो जाना आम बात है,संकट क्रमशः विकराल हो रहा है,प्लास्टिक के अतिशय प्रयोग को पहले कम करना और फिर खत्म करना हमारे हाथ में है,इसलिए बिना वक्त गंवाये इस दिशा में हर एक का पहल आवश्यक है तभी जा कर यह अभियान मुक़ाम पायेगा।

Total view 1408

RELATED NEWS