Bindash News || जब जीना हुआ "ना-कबूल", दोनो ने किया साथ मरना "कबूल"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

जब जीना हुआ "ना-कबूल", दोनो ने किया साथ मरना "कबूल"

Bindash News / 14-10-2019 / 949


उन्होंने तो ओढ़ लिया क़फ़न,क्या वज़ह उनके साथ ही हो गया दफ़न..?


आशुतोष रंजन
गढ़वा

शादी प्यार वाला हो या पारिवारिक दोनो में जोड़ियां साथ जीने मरने की कसमें खाते हैं,कुछ तो साथ जी लेते हैं लेकिन उस संयोग को दुर्लभ ही माना जाता है जब दोनो की मौत साथ हो,ऐसा आप कभी कभी सुनते होंगें लेकिन ऐसी संयोग वाली घटना झारखंड के गढ़वा में घटी है जहां कारण जो भी रहा हो लेकिन पति पत्नी की साथ ही मौत हुई है,आइये बताते हैं आपको की कहां घटी ऐसी संयोग वाली घटना।

 

दोनो ने किया साथ मरना कबूल:- जब जीना हुआ ना-कबूल तो दोनो ने किया साथ मरना कबूल" जी हां पोस्टमार्टम स्लैब पर रखे हुए ये दोनों शव जिले के तीसरटेटुका गांव निवासी पति पत्नी अनिल और शोभावती के हैं,पति पत्नी के बीच होने वाले थोड़ी बहुत कहा सुनी के बीच इनकी जिंदगी अच्छी तरह से गुज़र रही थी कि अचानक ऐसा क्या हुआ कि इन्हें इतने बड़े क़दम उठाने पड़े,आपको बताएं कि दोनो को साथ जीने में ऐसी कौन सी कठिनाई सामने आयी कि इनके द्वारा साथ मरने का फ़ैसला लेना पड़ा और दोनो ने जहर खा लिया,जिससे पत्नी शोभावती की मौत तो अस्पताल में इलाज के दौरान हो गयी जबकि अनिल को घर से थोड़ी दूर पड़ा हुआ पाया गया,उसे अभी अस्पताल लाने की तैयारी हो ही रही थी कि उसकी मौत हो गयी,तो इस तरह साथ ना जी पाने की स्थिति में एक जोड़े ने साथ मरना कबूल कर लिया।

क्या वज़ह उनके साथ ही हो गया दफ़न:- इन दोनों की मौत के बाद यह सवाल सबके जेहन में कौंध रहा है कि इन्होंने तो ओढ़ लिया क़फ़न पर क्या वज़ह मौत का उनके साथ ही हो गया दफ़न,पर इस सवाल का माकूल जवाब ना परिजन,पड़ोसी या किसी और के पास है,उधर पुलिस द्वारा भी अभी छानबीन शुरू की गयी है।

Total view 949

RELATED NEWS