Bindash News || "बिहार" में टूटा पुल,झारखंड में चुभ रहा "जाम" का शूल
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

"बिहार" में टूटा पुल,झारखंड में चुभ रहा "जाम" का शूल

Bindash News / 31-12-2019 / 1378


साल पूरा,सवाल अधूरा,क्या इसी तरह गुज़ार दें जीवन सारा:शहरवासी


नहीं रहेगा कोई भी समस्या शेष,कह रहे विधायक मिथिलेश

आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
यूपी बिहार और छतीसगढ़ तीन राज्यों की सीमा पर अवस्थित गढ़वा को एनएच 75 के रूप में मात्र एक ही सड़क नसीब हुआ है,जिसका आलम है कि तीन राज्यों की छोटी से ज़्यादा बड़ी गाड़ियां शहर होते हुए इसी सड़क से गुजरा करती हैं,नतीज़ा होता है कि प्रायः जाम की स्थिति बनी रहती है,लेकिन आज जिस जाम की चर्चा हम कर रहे हैं उसका कारण कुछ और ही हैं,क्या कारण है आइये हमारे इस रिपोर्ट से जानिए।
 
झारखंड में चुभ रहा शूल:- बिहार में टूटा पुल, झारखंड में चुभ रहा जाम का शूल",जी हां गाड़ियों की लंबी कतार से लगा यह जाम गढ़वा जिला मुख्यालय की दशकों से पहचान भले बनी हुई है,लेकिन आज जिस जाम की तस्वीर आपको हम दिखा रहे हैं उसका कारण यह है कि बिहार से हो कर गुजरने वाले एनएच 2 मुख्य सड़क पर कर्मनाशा के पास एक पुल टूट गया है जिस कारण सभी गाड़ियां एनएच 75 सड़क से हो कर गुजर रही हैं,जिसका नतीजा है कि गढ़वा शहर में जाम की स्थिति बन रही है,उधर परेशान शहरवासी संजय कांस्यकार कहते हैं कि टूटा है बिहार में पुल,पर यहां झारखंड में हमें चुभ रहा जाम का शूल,साथ ही अन्य लोग कहते हैं कि ऐसे तो प्रतिरोज़ जाम लगता ही है लेकिन यह जाम बहुत कष्टकारी है।
 
क्या इसी तरह गुज़ार दें जीवन सारा:- साल पूरा सवाल अधूरा,लेकिन क्या इसी तरह गुज़ार दें जीवन सारा",हालात के बावत पूछे जाने पर शहरवासी रामाशंकर खुद हमसे ही सवाल पूछते हुए कहते हैं कि आख़िर हमलोगों को जाम से कब पूर्ण रूप से निज़ात मिलेगा यह सवाल आज दशकों से अनुत्तरित है,प्रायः जाम से हलकान होने वाले हमलोग इस दो दिनी जाम से कुछ ज़्यादा ही परेशान हैं,और साथ ही हम जल्द राहत की गुहार भी लगा रहे हैं।
 
कह रहे विधायक मिथिलेश:- नहीं रहेगा कोई भी समस्या शेष,कह रहे विधायक मिथिलेश",सालों की इस जाम रूपी समस्या का क्या समाधान नहीं हो पायेगा पूछे जाने पर गढ़वा से नवनिर्वाचित विधायक मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि मैं उन जनप्रतिनिधियों में से नहीं हूं जो लोगों के आक्रोश को शांत करने के लिए लुभावने आश्वासन दिया करते हैं,उसी लुभावने बात का यह प्रमाण है कि अब तलक लोग जाम से हलकान हो रहे हैं,कहा कि सत्तासीन हुई नयी सरकार किस तरह कार्य कर रही है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण आप पहली कैबिनेट की बैठक से ले सकते हैं,इसलिए कहना चाहता हूं कि जिस तरह लोगों ने दशकों तक धैर्य रखा है बस अब चंद दिन और,जाम की समस्या से गढ़वा को स्थायी निज़ात मिल जाएगा और लोग सुकून भरा जीवन व्यतीत करेंगें।
 
गढ़वा को सड़क जाम से मुक्ति को चुनाव जीतने की युक्ति बना कई राजनेता विधानसभा और लोकसभा पहुंचे लेकिन मुद्दा यथावत रहा पर अब इस समस्या का जल्द समाधान होने वाला है क्योंकि विधायक ने इसे चुनौती के रूप में लिया है।

 

Total view 1378

RELATED NEWS