Bindash News || पर वह बच नहीं सका मौत के "दुरबिंद" से
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

पर वह बच नहीं सका मौत के "दुरबिंद" से

Bindash News / 08-02-2020 / 915


जीत जाओ सब जंग, पर मौत से हार जाओगे


आशुतोष रंजन
गढ़वा

सभी जंगों को लड़ कर जीत लेने वाला बड़ा से बड़ा योद्धा तब हार जाता है जब उसकी जंग मौत से हो,कुछ ऐसा ही आज झारखंड के गढ़वा में देखने को मिला,आख़िर वह कौन था जिसे मौत ने जंग हरा दिया।

पर वह बच नहीं सका मौत के दुरबिंद से:- पूरी ज़िंदगी पकड़ता रहा सांपो को बजाकर बिन से,पर वह बच नहीं सका मौत के दुरबिंद से",जी हां जहरीले सांपो को केवल अपने बिन के धुन पर नचाते हुए पकड़ने की जंग जीत लेने वाला सपेरा तब हार गया जब उसका दुरबिंद लगा कर बैठे वास्तविक मौत से हुआ,क्योंकि अकाल मृत्यु होने पर भले लोग कहें कि वह अमुक स्थान पर नहीं जाता तो उसकी मौत नहीं होती,पर उसकी मौत तो जन्म के साथ ही तय हो जाती है,और जब वह दिन आता है तो मौत राह ताक रहा होता है,जैसे बिन वाले सपेरे की राह मौत दुरबिंद ले कर ताक रही थी,तभी तो कहीं से आ रहे एक सपेरे की मौत आज गढ़वा में हो गयी,आपको बताएं कि ट्रेन से उतरते वक्त आज गढ़वा जिला के मेराल रेलवे स्टेशन पर उतरते वक्त उक्त सपेरा गिर पड़ा और ट्रेन उसके ऊपर से गुज़रती चली गयी,जिससे उसकी मौत हो गयी,ट्रेन के गुजरने के उपरांत जब लोग वहां पहुंचे तो उस कटे शरीर की पहचान सपेरे के रूप में हुई,साथ ही उसके पास के पोटली से निकल कर कुछ सांप निकल कर इधर उधर भाग रहे थे,वह सपेरा कहां का रहने वाला है इसकी पहचान अब तलक नहीं हो पायी है।

 

Total view 915

RELATED NEWS