Bindash News || प्रयास सफ़ल किये "जिलेदार", लाभान्वित हुए "चौकीदार"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

प्रयास सफ़ल किये "जिलेदार", लाभान्वित हुए "चौकीदार"

Bindash News / 20-02-2020 / 624


जिलेदार हो तो ऐसा...


आशुतोष रंजन
गढ़वा

अपने पदस्थापना के साथ ही जिले को विकास के पथ पर तीव्र गति से ले चलने के साथ साथ सालों से लंबित मामले का निष्पादन करने वाले गढ़वा उपायुक्त हर्ष मंगला ने आज उस मामले का पटाक्षेप किया जो पिछले तीन दशक से जड़वत बना हुआ था,आख़िर वह मामला क्या था आइये आपको बताते हैं।

लाभान्वित हुए चौकीदार:- प्रयास सफल किये जिलेदार,लाभान्वित हुए चौकीदार",जी हां आपको बताएं कि गढ़वा जिले में आज तलक कई छोटी बड़ी समस्याओं का समाधान हुआ,लेकिन जिले के सैकड़ो चौकीदारों की समस्या पिछले तीस सालों से जड़वत थी,जिले में पदस्थापित होने वाले सभी उपायुक्त से चौकीदारों ने अपनी व्यथा बतायी पर किसी ने भी उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया,जिसका नतीज़ा हुआ कि acp और macp के लाभ से सभी चौकीदार वंचित रहे,लेकिन कहा गया है कि घूरे के भी दिन बदलते हैं,सो चौकीदारों की भी ज़िंदगी तब सुधरना शुरू हुआ जब उपायुक्त के रूप में जिले में हर्ष मंगला की पदस्थापना हुई,हर समस्या को दिली संज़ीदगी से समझने और उसके समाधान को तत्पर रहने वाले उपायुक्त ने इस जड़वत समस्या को भी नज़र किया और त्वरित इसके समाधान में जुट गए,जहां एक तरफ़ उनके द्वारा सभी चौकीदारों के सेवा पुस्तिका का सत्यापन के साथ साथ उनकी गोपनीय चरित्री सभी अंचलों से तैयार करायी गयी,वहीं दूसरी ओर पिछले साल 8/8/2019 को विशेष बैठक आयोजित कर लंबित कार्यवाही को  पूर्ण किया गया,साथ ही यहां बताएं कि आज एक बार फ़िर से उस मामले की समीक्षा की गयी और योग्य 140 चौकीदारों में से 137 को acp और macp की स्वीकृति प्रदान की गयी,इनमें अधिकांश ऐसे हैं जिनकी तीनों एसीपी और macp आज ही स्वीकृत की गयी,उधर विभागीय कार्यवाही का निष्पादन नहीं होने के कारण शेष बचे तीन चौकीदारों को लाभ नहीं दिया जा सका।

 

Total view 624

RELATED NEWS