Bindash News || बैठ कर "कल्याणपुर" में अब अधिकारी करेंगें जिले का "कल्याण"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

बैठ कर "कल्याणपुर" में अब अधिकारी करेंगें जिले का "कल्याण"

Bindash News / 14-09-2018 / 1509


गढ़वा में बनेगा नया "समाहरणालय"

आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
वर्तमान समाहरणालय नहीं है उपयुक्त,नए समाहरणालय निर्माण के लिए जुटे उपायुक्त,जी हां डीसी हर्ष मंगला ने समाहरणालय के लगभग सभी कार्यालयों को नजर करने के बाद खुद से महसूस किया कि वर्तमान कमरे एक व्यवस्थित कार्यालय के लिए पर्याप्त नहीं है इसलिए एक सुव्यवस्थित नया समाहरणालय का होना नितांत आवश्यक है,क्यों है जरूरी और कहां बनेगा नया समाहरणालय जानने के लिए पढ़िए यह रिपोर्ट-
 
सबका नहीं होता समावेश:- दर्जनों अधिकारी और सैकड़ो कर्मचारी का समावेश एक भवन में नहीं हो पाने के कारण आज नए समाहरणालय को जरूरी बताया जा रहा है,पुराने मॉडल के अनुसार बना वर्तमान समाहरणालय आज अधिकारियों और सभी कर्मचारियों के लिए उपयुक्त नहीं है,इसलिए उपायुक्त द्वारा नए मॉडल के अनुसार एक बड़े समाहरणालय को जरूरी बताते हुए उसका जमीन के साथ साथ प्रतिवेदन तैयार करने के लिए अंचलाधिकारी को कहा गया है।
 
करेंगें जिले का कल्याण:- बैठ कर कल्याणपुर में,अधिकारी करेंगें जिले का कल्याण,जी हां ऐसा कहने का तात्पर्य यह है नए समाहरणालय भवन का बनना कल्याणपुर गांव में जो तय हुआ है,आपको बताएं कि उपायुक्त के निर्देश पर अमल करते हुए अंचलाधिकारी वैद्यनाथ कामती द्वारा कल्याणपुर गांव में अवस्थित हेलीपैड के सामने नए समाहरणालय निर्माण के बाबत जमीन चयनित किया गया है,साथ ही साथ उसके निमित प्रस्ताव भी तैयार किया जा रहा है।
 
बढ़ेगा सोच का दायरा:- उधर नए समाहरणालय के बाबत उपायुक्त हर्ष मंगला ने कहा कि आप जब छोटे और सुविधा से दूर जगह में रहते हैं तो आपकी मानसिकता कुंठित हो जाती है सोच कुंद पड़ने लगता है,कुछ ऐसी स्थिति से ही अभी अधिकारी और कर्मचारियों को गुजरना पड़ रहा है क्योंकि किसी के लिए जहां एक तरफ कार्यालय नहीं है तो किसी को कार्यालय है भी तो वह कार्य करने के लिए उपयुक्त नहीं है,ऐसे में कुछ करने की चाह रखने के बाद भी उनकी मानसिकता में नकारात्मकता आ रही है,इसलिए इस परेशानी को दिली संज़ीदगी से महसूस करते हुए नए समाहरणालय भवन निर्माण को जरूरी समझा गया,जहां हर अधिकारी के लिए एक सुव्यवस्थित कार्यालय होगा जिससे एक तरफ जहां वो बिना किसी सोच के काम कर सकेंगे,वहीं दूसरी ओर प्रभाव भी सकारात्मक पड़ेगा।
 
 

 

Total view 1509

RELATED NEWS