Bindash News || मजदूर पिट रहे माथा, "सरकार थपथपा रही पीठ
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

मजदूर पिट रहे माथा, "सरकार थपथपा रही पीठ

Bindash News / 05-05-2020 / 621


 प्रवासियों को घरवासी बनाने की प्रक्रिया बहुत धीमी:सत्येंद्र नाथ तिवारी


आशुतोष रंजन
गढ़वा

वैश्विक महामारी कोरोना के मद्देनजर झारखंड में सत्तासीन सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों को ले कर विपक्ष यानी भाजपा द्वारा लगातार सवाल खड़ा किया जा रहा है,हम बात अगर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सह गढ़वा रंका विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी की करें तो उनके द्वारा सरकार को हर मुद्दे पर घेरा जा रहा है,आज उन्होंने मजदूरों को लाये जाने के मामले में सरकार पर हमला बोला है,क्या कहना है उनका आइये आपको बताते हैं।

सरकार थपथपा रही है पीठ
:- पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी ने प्रवासी मजदूरों की घर वापसी की काफी धीमी प्रक्रिया पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि मजदूर पिट रहे माथा,और यहां सरकार थपथपा रही पीठ,उनके कहने का मतलब है कि जिस गति से और जिस अनुपात में मजदूरों को लाना चाहिए वैसा कार्य हो नहीं रहा है,कहा कि केंद्र सरकार द्वारा प्रवासियों की घर वापसी संबंधी गाइडलाइन जारी करने के एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी गढ़वा जैसे अत्यंत पिछड़े जिला के लाखों प्रवासी मजदूरों में से राज्य सरकार महज 2 प्रतिशत ही मजदूरों को गढ़वा वापस ला पायी है,और उधर बाकी मजदूर बेबस और मजबूर हो रहा ताक रहे हैं,उनका कहना है कि मुझे प्रतिदिन देश के कोने कोने से सैकड़ों प्रवासी मजदूरों के साथ-साथ उनके परिजनों का भी फोन आता है,वो सभी मदद की गुहार लगाते हैं तथा जल्द से जल्द सकुशल घर वापसी की मांग करते हैं,सभी प्रवासी जैसे तैसे दिन काटने को मजबूर हैं लेकिन राज्य सरकार प्रवासियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाने के बजाय महज 2 प्रतिशत मजदूरों के घर लौटने पर ही अपने दायित्वों के निर्वहन के बजाय अपनी पीठ थपथपाने में मशगूल है।

प्रवासियों को जल्द घरवासी बनाये सरकार:- पूर्व विधायक ने कहा कि जिन प्रवासियों की घर वापसी हो चुकी है या हो रही है, उन सभी के स्वास्थ्य की चिंता करना राज्य सरकार का दायित्व है,राज्य सरकार सभी लौटे हुए प्रवासियों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराए तथा क्वॉरेंटाइन की अवधि में भी उनके लिए जांच की व्यवस्था सुनिश्चित हो ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके,कहा कि राज्य के बाहर एवं राज्य के ही दूसरे जिलों में फंसे हुए मजदूरों/इलाजरत लोगों के सामने भी आज विकट समस्या है,राज्य सरकार अविलंब ऐसे सभी लोगों की भी स्वास्थ्य की चिंता करते हुए सकुशल वापसी की व्यवस्था करे,घर लौटे हुए सभी प्रवासियों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि होम क्वॉरेंटाइन अवधि में लॉक डाउन के नियमों का अक्षरशः पालन करने की आवश्यकता है,क्वॉरेंटाइन अवधि में परिवार के सदस्यों से भी सामाजिक दूरी बनाकर रखें ताकि संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके,ऐसा करके ही हम खुद को,अपने परिवार,गांव और समाज को संक्रमण मुक्त करने में सफलता हासिल कर पाएंगे।

Total view 621

RELATED NEWS