Bindash News || बड़ी ख़बर:- इस कारण वह बना "अपराधी"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

बड़ी ख़बर:- इस कारण वह बना "अपराधी"

Bindash News / 23-06-2020 / 1846


 ज़मीन बचाने के लिए खेत बेच कर रिश्वत दिया सात लाख,फ़िर भी उम्मीद हुआ ख़ाक


आशुतोष रंजन
गढ़वा

गुज़रे 18 जून को हुए ज़मीन कारोबारी कृष्णा चंद्रवंशी की हत्या मामले में दीनानाथ विश्वकर्मा नामक व्यक्ति को मुख्य अभियुक्त के रूप में गिरफ़्तार कर लिया गया,पुलिस द्वारा हत्याकांड का ख़ुलाशा किये जाने और मीडिया में ख़बरें आने के बाद सभी को यह ज्ञात हो गया कि दीनानाथ ने ही ज़मीन के झगड़े के कारण कृष्णा को मार डाला,आज सभी कोई दीनानाथ को हत्यारा मान रहा है,लेकिन उसे ऐसा क्यों बनना पड़ा,लकड़ी का मिस्त्री होने के बावजूद जिस हाथ से वह बच्चों के लिए लकड़ी का खिलौना रूपी पिस्तौल भी नहीं बनाया,लेकिन उसके साथ ऐसा क्या गुज़रा की उसे उसी हाथ से हथियार भी उठाना पड़ा और हत्या भी करनी पड़ी,वह कारण क्या है,आइये आपको इस ख़ास ख़बर के जरिये बताते हैं।

अंचल कार्यालय ने उसे अपराधी बना डाला:- जहां से उम्मीद थी वहीं से उसकी आस पूरी नहीं हुई,नतीज़ा हुआ कि वह जुर्म करने को विवश हुआ और हत्या कर दीनानाथ आज अपराधी बम गया,लेकिन क्यों इस बावत हत्या  के मुख्य अभियुक्त दिनानाथ विश्वकर्मा उर्फ रवि विश्वकर्मा ने पुलिस को दिए गए बयान में कहा की गढ़वा अंचल के पदाधिकारी और कर्मियों के कारण वह अपराधी बन गया,उसने कहा है कि 1965 में उसके दादा लाल जी मिस्त्री ने जगेश्वर राय की पत्नी घूरा देवी से जमीन लिया था,65 वर्षों तक उस जमीन पर उसके पूर्वज और वह खेती  करते आ रहे थे,वर्ष 2016 में गढ़वा अंचल से उसे नोटिस मिला की उक्त जमीन उसका नहीं है,नोटिस मिलने के बाद जब वह सभी कागजात के साथ अंचल कार्यालय पहुंचा तो अंचल के कर्मियों द्वारा उसके जमीन को गलत करार दे दिया गया,और उस जमीन पर कृष्णा अपना दावा करने लगा,इस संबंध में जब उसके द्वारा कृष्णा से बात कि गयी तो कृष्णा ने न्यायालय से फैसला लेने की बात कही,अपनी जमीन को सही कराने के लिए वह पांच वर्षो तक अंचल कार्यालय का चक्कर लगाया,हल्का कर्मचारी से ले कर अधिकारी तक जमीन ठीक कराने के नाम पर राशि की मांग करने लगे,उसने अपनी जमीन बेचकर सात लाख रुपये बतौर रिश्वत दिया,इसी दरम्यान एक रोज़ विनय यादव नाम का एक व्यक्ति उसे अधिकारी के आवास में ले गया जहां जमीन ठीक कराने के एवज में पांच लाख की डिमांड की गई, जमीन बचाने की आतुरता में उसने उपजाऊ खेत को बेचकर विनय यादव को पाँच लाख  रुपए दे दिया,राशि देने के एक वर्ष के बाद भी उसका काम नहीं हुआ, उसने कहा कि अपनी 65 वर्ष की जमीन को ठीक कराने के लिए वह दूसरा जमीन भी बेच चुका था और काम नहीं होने के कारण वह परेशान रहने लगा,इस बीच वह कृष्णा के भाई रामस्वरूप चंद्रवंशी जो मेरा दोस्त है उसे भी भाई को समझाने को कहा उसके बाद जब कहीं से भी बात नहीं बनी तो वह अंतिम में कृष्णा की हत्या करने का मन बना लिया और उसकी हत्या कर दी,दिनानाथ ने बताया कि वह कभी भी सपने में नहीं सोचा था की वह  अपराधी बनेगा पर अंचल के लोगों ने उसे अपराधी बनने पर मजबूर कर दिया।

ज़मीन माफ़िया से जुड़े मामले कराएं दर्ज़,होगी फ़ौरी कार्रवाई
:-एसपी श्रीकांत सुरेश राव ने कहा कि ज़मीन माफ़िया से संबंधित शिकायत पुलिस तक नहीं पहुंचती है,जिसके कारण पुलिस माफिया पर अब तलक कार्रवाई नहीं कर सकी है,भू माफिया से जुड़ी शिकायतें लोग पुलिस के सामने दर्ज कराएं तो ऐसे लोगों के विरुद्ध पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी,पुलिस को भू माफिया से संबंधित कई जानकारियां प्राप्त हुई हैं,कुछ शिकायतें भी मिली हैं वैसे लोगों के विरुद्ध पुलिस निश्चित रूप से कार्रवाई करेगी, उन्होंने कहा कि भू माफियाओं का संबंध अंचल कार्यालय के पदाधिकारियों और कर्मियों के साथ होने के प्रमाण मिले हैं,जांच भी शुरू हो गयी है,जल्द ही ऐसे लोगों पर पुलिस कार्रवाई करेगी।

Total view 1846

RELATED NEWS