Bindash News || "गढ़वा BDO"+ वेंडर = लूट
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

Economy

"गढ़वा BDO"+ वेंडर = लूट

Bindash News / 26-06-2020 / 3844


क्या होगी कार्रवाई..?


आशुतोष रंजन
गढ़वा

झारखंड का गढ़वा वह जिला है जहां योजना या तो कार्यान्वित नहीं होती,और अगर हुई तो उसमें बड़े पैमाने पर अनियमितता उज़ागर होती हैं लेकिन विडंबना इस बात का है कि मामला सामने आने के बाद भी माकूल कार्रवाई नहीं होती,अब आज हम जिस ज्वलंत मामले की बात कर रहे हैं उसका ख़ुलाशा कोई आम व्यक्ति या कोई विपक्ष का राजनेता ने नहीं बल्कि खुद जिला के उपायुक्त ने किया है,आख़िर क्या है वह मामला आइये आपको इस ख़ास ख़बर के जरिये बताते हैं।

हुई जब बैठक तो उज़ागर हुआ मामला:- जिले के विकास के साथ साथ जो योजनाएं जिले में संचालित हो रही हैं उस पर पैनी नज़र रखने वाले उपायुक्त हर्ष मंगला द्वारा एक गठजोड़ वाली योजना राशि डकारने का ख़ुलाशा किया गया है,आपको बताएं कि डीसी द्वारा की गयी खनन टास्क फोर्स की बैठक में ये मामला सामने आया कि नरेगा एवं अन्य मदों में जो भुगतान विभिन्न वेंडर्स को हो रहा है उसके संबंध में उचित राजस्व कटौतियां नही की जा रही है,और खनिज रॉयल्टी विभिन्न वेंडर्स अपने पास ही रख रहे हैं,मामला सामने आने के उपरांत उक्त मामले की पड़ताल स्वयं उपायुक्त ने प्रारम्भ की और गढ़वा प्रखण्ड के संग्रहे खुर्द पंचायत के नरेगा के 2 अभिलेखों का परीक्षण शुरू किया,उन अभिलेखों के निरीक्षण में कई गंभीर खामियां उजागर हुई हैं, साथ ही यह भी कि विभिन्न वेंडर्स को बहुत बड़ी राशि वर्ष 2019-20 में भुगतान हुई जिसके विरुद्ध कटौती राशि जमा करने की सूचना नही हैं,इस आधार पर गढ़वा प्रखंड में कुल कितने वेंडर्स को कितना भुगतान हुआ इसका चार्ट बनाया गया,परीक्षण के दौरान जब गढ़वा के एक वेंडर को बुलाकर पूछा गया तो उसने राशि जमा करने हेतु 2 दिन का समय मांगा जिसपर उसे कड़ी फटकार लगाते हुए कहा गया कि आख़िर अबतक क्यों नहीं हुआ?,उसके कहे अनुसार वर्ष 2018-19 की राशि भी अब तक जमा नहीं हुई है,उक्त वेंडर को मात्र कुछ ही घंटों में भुगतान के चार्ट के साथ गत वर्ष के बैलेंस शीट और प्रॉफिट लॉस विवरणी भी देने का निदेश दिया गया है।

इनके शह से लूट रहे वेंडर
:- उधर वेंडर द्वारा सरकारी राशि डकारने में गढ़वा बीडीओ का भी पूरा सहयोग प्राप्त है,उपायुक्त का सीधे तौर पर कहना है कि इस पूरे मामले में BDO गढ़वा की लापरवाही एवं मिलीभगत से इनकार नही किया जा सकता,इसी प्रकार का परीक्षण अन्य प्रखंडों का करने तथा संबंधित वेंडर्स को स्पष्टीकरण करने का निर्देश उप विकास आयुक्त को दिया गया है।

Total view 3844

RELATED NEWS