Bindash News || अब कौन जोड़ेगा रूह से रूह का तार,क्योंकि रुख़सत हो गए मुख्तार
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

अब कौन जोड़ेगा रूह से रूह का तार,क्योंकि रुख़सत हो गए मुख्तार

Bindash News / 22-11-2020 / 746


कल कामत मदरसे में होंगें सुपुर्द-ए-ख़ाक


आशुतोष रंजन
गढ़वा

अब कौन सोचेगा समाज के बारे में,कल तक सभी को एकसूत्र में बांध कर रखने और आपसी मिल्लत वाली भावना सबके रूह में पेवस्त करने वाले आज हमारे बीच से रुख़सत हो गए,हम बात यहां जिले के मझिआंव प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत कामत शरीफ गांव निवासी हाजी मुख्तार अहमद सिद्दीकी की कर रहे हैं,जिनका आज इंतक़ाल हो गया,शुरुआत से पांचो वक्त का नमाज़ अदा कर सबके सलामती की दुआ मांगने वाले 80 वर्षीय मुख्तार अहमद अपने परिवार के साथ साथ गांव और समाज की बरक़त ख़ातिर हज पर भी गए और वहां पहुंच दुआ मांगी,आज उनके इंतक़ाल की ख़बर मिलते ही घर परिवार के साथ साथ पूरे गांव और क्षेत्र में मातम छा गया,जिसके भी कानों तक यह ख़बर पहुंची उसके पैर खुद ब खुद उनके घर की ओर चल पड़े,सबके ज़बान से बस यही बोल निकल रहे हैं कि मौत उनकी नहीं हमारी बेहतरी और तरक़्क़ी की हो गयी,अब नहीं रहा सबके हित की सोचने वाला,उधर उनके नवासे गुड्डू ने बताया कि कल यानी 23 नवंबर को शाम साढ़े चार बजे गांव यानी कामत शरीफ मदरसा में ही असर के नमाज के बाद उन्हें सुपुर्द- ए-ख़ाक किया। जाएगा।

Total view 746

RELATED NEWS