Bindash News || देख कर घटिया कैनाल, आज मंत्री हुए लाल
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

देख कर घटिया कैनाल, आज मंत्री हुए लाल

Bindash News / 17-12-2020 / 720


नहीं सुनने देंगें आपको छलकते नीर के किस्से,अब आएगी पानी आपके हिस्से:मिथिलेश


आशुतोष रंजन
गढ़वा

झारखंड का गढ़वा जिसे सूखा के लिए अभिशप्त जिला कहा जाता है,जहां हर दूसरे साल सूखा पड़ता है,ऐसी बात नहीं कि इससे निज़ात दिलाने के लिए सरकार और सरकारी स्तर पर कोशिश नहीं हुई,लेकिन हर कोशिश जड़वत ठेकेदारी प्रथा की भेंट चढ़ गयी,अब एक और प्रयास किये जा रहे हैं,वह है कैनाल का निर्माण,लेकिन उक्त योजना भी कैसे भ्रष्टाचार में आकंठ डूबा है इसका ख़ुलाशा तब हुआ जब मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने योजना का निरीक्षण किया,जहां वो अधिकारियों पर भड़क उठे और साथ ही ग्रामीणों का क्या कहना है जानने के लिए पढ़िए हमारी यह ख़ास रिपोर्ट।

 

 

फ़िर भी नहीं पहुंचा खेतों तक पानी:- बूढ़ी हो गयी कई जवानी,ख़त्म हो गयी चेहरों की रवानी,फ़िर भी नहीं पहुंचा खेतों तक पानी",हमारे खेतों तक भी पानी पहुंचे यानी सिचाई की सुविधा पर्याप्त हो यह गढ़वा जिला के किसानों के लिए रात में देखा जाने वाला ख़्वाब नहीं बल्कि दिन का दिवास्वप्न बन गया है,आसमानी बारिश के भरोसे खेती करने वाले किसान अब पूरी तरह टूट चुके हैं,उस पर सरकारी नुमाईंदों और ठेकेदारों के गठजोड़ उन्हें और बेबस करने को आमादा हैं,क्योंकि योजनाओं में लूट और घटिया निर्माण की परिपाटी अब तलक वजूद में क़ायम है,आपको बताएं कि यही वो कैनाल है जिसके घटिया निर्माण का ख़ुलाशा मंत्री के निरीक्षण में हुआ है,अन्नराज जलाशय से जुड़े इस कैनाल से हज़ारों एकड़ बंजर ज़मीन सिंचित होना है,लेकिन अफ़सोस ठेकेदारी प्रथा इसे पूर्ण नहीं बल्कि अपूर्ण रखने में जुटा है,दशकों से पानी की आस जोहने वाले ग्रामीणों की बुझी आंखों में तब एक उम्मीद जग उठी थी जब कैनाल का निर्माण शुरू हुआ था,लेकिन उसके घटियापन को देख उनकी उम्मीद धरि की धरी रह गयी,वो कहते हैं कि उनके आंखों के सामने उम्मीद वाला कैनाल का पूरी तरह घटिया निर्माण हो रहा है,वो कई बार निर्माणकर्ता को बोले पर हमारी कौन सुनता है।

 

अब नहीं सुनने देंगें आपको छलकते नीर के किस्से:- आएगी पानी अब आपके हिस्से,अब नहीं सुनने देंगें आपको छलकते नीर के किस्से",जी हां पूर्व से जानकारी होने के साथ ही उनके मन में नाराज़गी थी ही,आज जैसे ही वो कैनाल निर्माण स्थल पर पहुंचे और जब ख़ुद से हालात को नज़र किया तो पूरी तरह अधिकारियों पर बिफ़र पड़े,उन्होंने ख़ुद से कैनाल के टूटे स्थान को दिखाते हुए अधिकारियों से सवाल किया,उनके द्वारा सीधे शब्दों में अधिकारियों को फ़टकार लगाते हुए कहा गया कि हम यह बख़ूबी जानते हैं कि गुज़रे वक्त में क्या हुआ है और आपलोगों ने किस तरह काम किया है,लेकिन अब वह नहीं चलेगा,यह योजना लोगों की ज़िंदगी से जुड़ा है इसलिए इसमें तनिक भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं करूंगा,साथ ही मौक़े पर मौजूद ग्रामीणों से मुख़ातिब होते हुए मंत्री ने कहा कि आपने अब तलक जो फ़िक्र किया उसे अब मन से निकाल दें क्योंकि अब आपका विधायक और मंत्री मिथिलेश ठाकुर है,जो आपको समस्या से दो चार होते नहीं देखेगा,साथ ही आपको बता दूं कि नहीं सुनने पड़ेंगें आपको केवल छलकते नीर के किस्से,आएगी पानी अब आपके हिस्से।

 

इन्हें तो स्वीकार ही नहीं है अनियमितता:- उधर ग्रामीणों के साथ साथ मंत्री द्वारा भी निर्माण में अनियमितता की बात कहे जाने के बाद भी अधिकारी ख़ुद की लापरवाही स्वीकारने को तैयार नहीं हैं,उनके अनुसार ऐसी कोई बात नहीं है।

कई पीढ़ियां गुज़र जाने के बाद खेतों तक पानी पहुंचाने का शुरू हुआ प्रयास भी ठेकेदारी की भेंट चढ़ रहा है,अब मंत्री का यह निरीक्षण और उनके द्वारा लगाए गए फ़टकार का संवेदनहीन अधिकारियों पर कितना असर होता है यह देखना ज़रूरी होगा,क्योंकि मामला लोगों के जीवन से जो जुड़ा है।

Total view 720

RELATED NEWS