Bindash News || शाही ने चढ़ाया वेदी पर फूल
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

शाही ने चढ़ाया वेदी पर फूल

Bindash News / 14-01-2021 / 566


रहे हर वक्त याद,ना जाऊं कभी भूल,बस इसी ख़ातिर चढ़ाता हूं वेदी पर फूल:भानु


आशुतोष रंजन
गढ़वा
 
ना जाऊं कभी भूल, रहने को याद,चढ़ाता हूं वेदी पर फूल",जी हां किसका है यह संकल्प और कौन सी है वह वेदी जहां चढ़ता है फूल आइये पढ़ कर जानिए यह रिपोर्ट-
 
आज भी रुला देती है वह घटना:- गढ़वा जिसे सूखा प्रभावित जिला के रूप में जाना जाता है जहां खेत रहते हुए भी सिचाई सुविधा के बिना लोग दो मुट्ठी अन्न के लिए सुदूर प्रदेश जाया करते हैं,हर साल की तरह उस साल भी गढ़वा जिले के भवनाथपुर प्रखंड क्षेत्र के तीन दर्जन से ज्यादा मजदूर धनकटनी करने बिहार गए हुए थे,और मजदूरी में मिले अपने अपने हिस्से का अनाज ले कर आज ही के दिन यानी 14 जनवरी को वापस लौट रहे थे,दिल में एक सुखद अहसास था कि कल से अपने खाली घर में कुछ दिनों के लिए ही सही अनाज भर जाएगा,खुद के साथ साथ जो बच्चे आज भूख से बिलबिला रहे हैं कल सुबह से उनकी क्षुधा तृप्त होगी,इसी सोच से प्रफुल्लित होते मजदूर घर को लौट रहे थे लेकिन होनी को तो कुछ और ही मंजूर था,उनकी खुशी पल भर में काफ़ूर होने वाली है शायद इसका उन्हें इल्म नहीं था,और अभी वो अपने घर से कुछ ही दूरी पर थे कि जिस गाड़ी में वो सवार थे वह पलट गयी,और अभी कुछ देर पहले तक जीवित कुल तीस मजदूर एक साथ मौत के मुंह में समा गए,घटना होने और तीस मजदूरों की मौत एक साथ होने ने इलाके सहित पूरे जिले को दहला कर रख दिया,परिजनों के चीत्कार से पत्थर दिल भी पिघल गया,और जो सुना वो घटना स्थल पर पहुंच कर और उस हृदय विदारक स्थिति को देख कर फ़फ़क पड़ा,आज जब यह दिन आता है वहां पहुंचने वाले सभी की आंखें लरज पड़ती हैं।
 
 

भगवान घाटी में घटित हुई थी घटना:- इसे ऊपर वाले का अजीब संयोग ही कहेंगें क्योंकि बिना उसके चाहे ना किसी का जन्म होता है और ना ही मरण,तो यह घटना भी उसने वहीं घटित कराया जिस स्थल को "भगवान घाटी" कहा जाता है,जी हां भवनाथपुर प्रखंड क्षेत्र में अवस्थित तब का ढलान नुमा जगह जिसे अब स्थानीय विधायक द्वारा उसे समतल करा दिया,उसे आज भी भगवान घाटी के नाम से ही जाना जाता है,उसी ढलान पर मजदूरों से भरा ट्रक असंतुलित हो कर दुर्घटना ग्रस्त हुआ था जिसमें 30 मजदूरों की मौत हो गयी थी।
 
विधायक ने बनवाया बनिहार वेदी:- उक्त घटना के पहली बरसी से पूर्व स्थानीय विधायक भानु प्रताप शाही द्वारा घटना स्थल पर एक वेदी बनवायी गयी जिसे बनिहार वेदी नाम दिया गया,निर्माण साल से ही हर वर्ष विधायक द्वारा उक्त स्थल पर श्रधांजलि सभा का आयोजन किया जाता है,जहां मौजूद हो कर लोग उस बनिहार वेदी पर अश्रुपूरित आंखों से फूल चढ़ा उन्हें याद किया करते हैं।
 
 

बस इसीलिए चढ़ाता हूं वेदी पर फूल:- रहे हर वक्त याद,ना जाऊं कभी भूल,बस इसीलिए चढ़ाता हूं वेदी पर फूल",जी हां अपने इसी संकल्प को एक बार फिर से दृढ़ इक्षाशक्ति के साथ दुहराते हुए विधायक भानु प्रताप शाही ने कहा कि वेदी बनवाना और हर साल आज के दिन उक्त बनिहार वेदी पर श्रधांजलि कार्यक्रम आयोजित कर फूल चढ़ाने के पीछे एक मात्र कारण यही है कि अपने भवनाथपुर क्षेत्र को इस तरह विकसित कर दूं कि अपने यहां से कोई भी बाहर मजदूरी और धनरोपनी और धनकटनी करने ना जाये,ताकि फिर से उस घटना की पुनरावृत्ति ना हो,अपने इस संकल्प पर कायम रहते हुए मेरे द्वारा अथक प्रयास कर के इलाके को विकसित और खेती के मामले में समृद्ध बनाया जा रहा है,प्रधानमंत्री द्वारा भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र में सोन और कनहर से खेतों को पानी दिए जाने की बड़ी योजना का जिक्र करते हुए विधायक ने कहा कि बहुत जल्द इस बड़ी योजना पर कार्य शुरू होगा फिर ना तो हमारे यहां के खेत सूखे रहेंगें और ना ही पानी पिये बिना किसी के हलक सुखेंगें,साथ ही साथ हर अवरोध को दूर करते हुए आज पूरे भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र को विकास से पुरनूर किया जा रहा है,साथ ही कहा कि जिस तरह शुरुआत से आज तलक आप सभी ने मुझे नेता नहीं अपना बेटा माना है,मैं भी बेटे का फ़र्ज़ निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा,आपको होने वाले हर कष्ट का मुझे दिली अहसास है,मैं क्षेत्र में रहूं या कहीं बाहर हर वक्त आपकी और पूरे क्षेत्र की चिंता मुझे सालती रहती है,और हर वक्त मैं छोटे से ले कर बड़ी समस्या के समाधान के समाधान के बावत प्रयास करते रहता हूं,इसीलिए हर बार मैं आपसे कहता हूं कि "अंधेरे को मिटाना है हमें,उजाले की ओर बढ़ना है हमें,ताकना नहीं है राह किसी मसीहा की,भाग्य इलाके का खुद गढ़ना है हमें।


Total view 566

RELATED NEWS