झारखंड के विकास में बाधक बनने वाली ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार है जनता : मंत्री मिथिलेश


आशुतोष रंजन सिन्हा
गढ़वा

गढ़वा के पूर्व सांसद प्रतिनिधि, पूर्व जिला परिषद प्रत्याशी सलीम जाफर सहित 100 से अधिक लोगों ने झारखंड मुक्ति मोर्चा का दामन थामा लिया झामुमो की नीतियों एवं गढ़वा विधायक सह झारखंड सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता व उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग के मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के कार्यां से प्रभावित होकर सभी ने झामुमो की सदस्यता ग्रहण की। रविवार को मंत्री के रांची के डोरंडा स्थित आवास पर सलीम जाफर अपने समर्थकों के साथ झारखंड मुक्ति मोर्चा में शामिल हुए। मंत्री ने सलीम एवं मकसूद खान सहित सभी को माला एवं पार्टी का पट्टा पहनाकर एवं मिठाई खिलाकर झामुमो में शामिल करते हुए स्वागत किया।

आप सबों के आने से और मज़बूत हो गई पार्टी : – मौके पर मंत्री ने कहा कि आप सबों के पार्टी में शामिल होने से पार्टी परिवार और बड़ा होने के साथ साथ मज़बूत भी हो गया। पूर्ण विश्वास है कि आप सभी लोग झारखंड मुक्ति मोर्चा को आगे बढ़ाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे। उन्होंने कहा कि झामुमो की नीति राज्यहित एवं जनहित की है। झारखंड गठन के बाद पहली बार महागठबंधन की सरकार में पूरे राज्य का चौतरफा विकास हो रहा है। राज्य के विकास से भाजपा पूरी तरह से डर गई है। यही कारण है कि केंद्र सरकार आज लोकसभा चुनाव के मौके पर जन-जन के नेता हेमंत सोरेन को बेवजह जेल में बंद कर दी है। पूरे राज्य की जनता जागरूक है एवं केंद्र की नीतियों को अच्छी तरह से समझ चुकी है। गढ़वा सहित पूरे राज्य में लोग गोलबंद होकर राज्य के विकास में बाधक बनने वाली ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार है। पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जेल भेजने का परिणाम आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ेगा। सलीम जाफर ने कहा कि एकमात्र झामुमो ही माटी की पार्टी है। झामुमो के नेतृत्व में ही राज्य एवं राज्य वासियों का विकास संभव है।

उधर रंका में पचास से अधिक महिलाओं ने छोड़ दिया भाजपा : – जबकि गढ़वा जिले के रंका प्रखंड के रंका पंचायत में फुजैल अहमद की अध्यक्षता में पुरे पंचायत कमिटी कि उपस्थिति में मंत्री के विकास कार्यों से प्रभावित होकर भाजपा छोड़ कर 50 से अधिक महिलाओं ने झारखंड मुक्ति मोर्चा का दामन थामा। पार्टी में शामिल होने वालों में सोनी देवी,मीना देवी, सुजंती देवी,निरा देवी,पुनीता देवी,अनीता देवी,रेखा देवी, चांदनी देवी,सुनीता देवी,रंजू देवी,सुशीला देवी,कमला देवी, रूणा देवी,कुमकुम कुंवर, सरिता कुंवर,उषा देवी,बबिता देवी,प्रमिला देवी,काजल देवी आदि का नाम शामिल है। सभी लोगों ने भाजपा छोड़ कर झारखंड मुक्ति मोर्चा की सदस्यता ग्रहण की। सभी महिलाओं ने आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में विकास विरोधी ताकतों को सबक सिखाने का संकल्प भी लिया