शहर को अपराध और नशे के कारोबार से मुक्त बनाने के लक्ष्य को हासिल करना होगी प्राथमिकता


आशुतोष रंजन
गढ़वा

गढ़वा को नक्सलियों से मुक्त करा लेने के बाद अब अपराध और नशा से पूर्ण रूपेण मुक्त कराने की दिशा में अपने सशक्त टीम के साथ अनवरत प्रयासरत कुशल पुलिस कप्तान दीपक पांडेय द्वारा कई कंक्रीट रणनीति के तहत सरजमीन पर काम किए जा रहे हैं जिसमें सतत सफ़लता भी हासिल हो रही है,उसी कड़ी में आज उनके द्वारा जिले में थाना स्तर के कई पुलिस अधिकारियों का स्थानांतरण किया गया।

गढ़वा के थाना प्रभारी बने नक्सलियों से लोहा लेने वाले बृज कुमार : – स्थानांतरित पुलिस अधिकारियों में एक नाम बृज कुमार का है,गढ़वा शहर अंचल में पुलिस निरीक्षक के पद पर पदस्थापित बृज कुमार को शहर थाना का नया प्रभारी बनाया गया है,94 बैच के बृज कुमार द्वारा जमशेदपुर से पुलिस सेवा की शुरुआत की गई,शुरू से काम करने में दक्ष होने एवं जिम्मेवारी को बख़ूबी निभाने में निपुण बृज कुमार अपने वरीय अधिकारी के गुड बुक में रहे,जिसका आलम हुआ की उन्हें उन उन जगहों पर भेजा गया जहां काम करना जटिल था,लेकिन हर कठिन पुलिसिया काम को उनके द्वारा सरलता से किया जाता रहा,इसी बीच उन्हें चतरा भेजा गया यह वो वक्त था जब वहां नक्सलवाद चरम पर था,आए दिन मुठभेड़ वाले जिले के रूप में जाना जाने वाले उक्त जिले में बड़े ही सुझबुझ और साहस के साथ नक्सलियों से लोहा लेते हुए उनके द्वारा जवाबदेही को निभाया गया,जिसका सुपरिणाम हुआ की उनकी कार्यदक्षता और सुदृढ़ होती गई,इसी बीच गुज़रे मार्च माह में स्थानांतरित हो कर पुलिस निरीक्षक पद पर वो गढ़वा आए,मार्च से अब तक पुलिस कप्तान द्वारा उन्हें जो भी जिम्मेवारी दी गई उनके द्वारा उसे ससमय पूरा किया गया जिसके पारितोषिक स्वरूप उन्हें आज शहर थाना का प्रभारी बनाया गया।

उनकी यह है प्राथमिकता : – बात कम और काम करने में ज्यादा यकीन करने वाले नए थाना प्रभारी बृज कुमार द्वारा कहा गया की आज तलक वो जहां भी रहे अपने वरीय पदाधिकारी से प्राप्त निर्देश के आलोक में काम किया गया,साथ ही जब जो भी जवाबदेही दी गई उसे बिना कोताही किए पूरा किया,अब आप गढ़वा शहर थाना के प्रभारी बनाए गए हैं के ज़वाब में उन्होंने कहा की हमारे कप्तान बेहद कुशल हैं उनके नेतृत्व में काम करना मेरे लिए एक सुअवसर के समान है,जिले में बेहतर पुलिसिंग हो यह तो उनका उद्देश्य है ही साथ ही उनका जो प्रमुख लक्ष्य है वो है जिले से अपराध और नशे के कारोबार का पूर्ण रूपेण खात्मा हो,बस इसी लक्ष्य को हासिल करने को ले कर जिले में एक टीम वर्क के रूप में काम हो रहा है,साथ ही कहा की उनके द्वारा यानी अपने कप्तान द्वारा जब जब जो भी जिम्मेवारी दी जाएगी उसे बखूबी निभाने के साथ साथ शहर को शांत और अमन के माहौल में बनाए रखना भी प्राथमिकता होगी,बस ज़रूरत है शहरवासी के सहयोग की,कहा की जिस तरह पूर्व में शहरवासी कार्य में सहयोग देते आए हैं वही सहयोग बनाए रखें ताकि गढ़वा पुलिस अपने लक्ष्य को हासिल कर सके।