Bindash News || जनप्रतिनिधि हो तो ऐसा...
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

जनप्रतिनिधि हो तो ऐसा...

Bindash News / 18-05-2021 / 549


कार्यकर्ताओं के जीवन के साथ भी और जीवन के बाद भी खड़ा है झामुमो : मंत्री मिथिलेश


आशुतोष रंजन
गढ़वा

अपने कार्यकर्ता के यहां ख़ुशी और ग़म में शरीक होना और हो सके तो कुछ मदद कर देना यह कुछ जनप्रतिनिधियों के आदत में शुमार होता है,लेकिन क्या कोई जनप्रतिनिधि ऐसा भी होता है जो एक तरफ़ जहां अपने कार्यकर्ताओं की ख़ुशी और ग़म में शिरक़त करने के साथ साथ उसके विषम हालात को देखते हुए ऐसा साधन भी उपलब्ध कराता है जो उसके परिवार के लिए आजीविका का सहारा बने,हम बात यहां किसी और कि नहीं बल्कि गढ़वा विधायक सह सूबे के मंत्री मिथिलेश ठाकुर की कर रहे हैं जिनके द्वारा आज ऐसी पहल की गयी जो एक ओर जहां सहृदय सराहनीय है वहीं राजनेताओं के लिए अनुकरणीय भी,तो आइए पूरी बात जानने के लिए पढ़िये हमारी यह ख़ास रिपोर्ट।

 

एक जनप्रतिनिधि ऐसा भी:- विधानसभा क्षेत्र के दो दिवसीय दौरे पर गढ़वा पहुंचे मंत्री मिथिलेश ठाकुर को जैसे ही यह सूचना मिली कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के रंका प्रखंड के कंचनपर पंचायत अध्यक्ष एवं उनके कर्मठ कार्यकर्ताओं में से एक चतुर्गुण सिंह खरवार की कोरोना से मौत हो गयी है,वो जहां एक तरफ़ बेहद भावुक हुए,वहीं कुछ ज़रूरी बैठकों को तत्काल स्थगित करते हुए सीधे मृत कार्यकर्ता के घर पहुंचे,जहां उनके द्वारा परिजनों को ढांढस बंधाया गया,साथ  ही उनके परिजनों से बात करते हुए कहा कि चतुर्गुण की कमी उन्हें आजीवन महसूस होती रहेगी,संघर्ष के दिनों में किस तरह साथ मिला उसे शब्दों में बयां करना मेरे लिए मुश्किल है,पूरी तरह भावुक होते हुए कहा कि इस वक्त मेरे मुंह से कोई बोल नहीं निकल रहा,मंत्री ने कहा कि आज ही नहीं वो हमेशा परिवार के साथ हर मौक़े पर खड़ा रहेंगें,उधर परिजनों के जीविकोपार्जन के लिए मंत्री द्वारा मृतक की पत्नी को नया ट्रैक्टर ट्रॉली के साथ प्रदान किया गया,मंत्री ने मृतक की पत्नी को महिंद्रा 275 ट्रैक्टर का चाबी सौंपते हुए मंत्री ने एक बार फ़िर दुहराया की इस ट्रैक्टर का दे देना ही अंतिम सहयोग नहीं है,मैं हर क्षण आपके साथ हूं।

जीवन के बाद भी साथ खड़ा है झामुमो:- उक्त मौके पर मंत्री ने कहा कि हम हर बार कहते हैं कि झारखंड मुक्ति मोर्चा केवल ज़बानी नहीं बल्कि ज़मीनी काम करने वाली पार्टी है,हम ना तो कुछ राज रखते हैं और ना ही बिनी नीति की राजनीति करते हैं,हम जो कहते हैं उसे कर के दिखाने पर यक़ीन करते हैं,अन्य विकास कार्यों के साथ साथ आज अपने मृत कार्यकर्ता के घर पहुंच यह अभिनव पहल करना निश्चित रूप से मंत्री द्वारा कही गयी बातों को परिभाषित करता है,मंत्री ने कहा कि झामुमो अपने कार्यकर्ताओं के साथ उसके जीवन रहते ही नहीं बल्कि उसके जीवन के बाद भी उसके परिजनों के साथ खड़ी रहने वाली पार्टी है,कोई भी कार्यकर्ता या उसके परिजन को किसी परेशानी से परेशान नहीं देखा जा सकता,उन्होंने कहा कि चतुर्गुण सिंह पार्टी के सच्चे और जुझारू सिपाही थे,उनके असामयिक निधन से पार्टी को अपूरणीय क्षति हुई है,उनकी कमी को उनके परिवार परिजन के लिए पूरा तो नहीं किया जा सकता है लेकिन उनके दुख और समस्या को जरूर बांटा जा सकता है,पार्टी उनके परिवार के साथ हमेशा खड़ी है और रहेगी,उन्होंने कहा कि झामुमो प्रत्येक सिपाही के साथ हमेशा मजबूती के साथ खड़ी रहेगी।

 

इनकी भी रही मौजूदगी:- मौके पर झामुमो जिलाध्यक्ष तनवीर आलम, स्वास्थ्य प्रतिनिधि कंचन साहू,नगर परिषद प्रतिनिधि जितेंद्र सिन्हा,पार्टी के वरिष्ठ नेता परेश तिवारी,युवा जिलाध्यक्ष नितेश सिंह,आशीष गुप्ता,दीपक सोनी सहित कई लोग मुख्य रूप से मौजूद रहे।

Total view 549

RELATED NEWS