Bindash News || जो "झरना" था "गुमनाम",अब उसे मिलेगा पहचान
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

जो "झरना" था "गुमनाम",अब उसे मिलेगा पहचान

Bindash News / 06-10-2018 / 1729


"बिंदाश न्यूज़" के ख़बर का हुआ असर

 
पर्यटन स्थल के रूप में होगा झरना स्थल का विकास:उपायुक्त
 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
वह नज़ारा है नयनाभिराम,फिर भी है गुमनाम इस शीर्षक से हमने एक ख़बर लिखा था जिसमें यह दर्शाया था कि गढ़वा जिले में नैना नाम का एक झरना स्थल है जो आम लोगों के निगाहों में तो है पर सरकार और प्रशासन के नज़रों से ओझल है,लेकिन उसे ख़बर के जरिये सामने लाने के बाद उपायुक्त ने लिया संज्ञान और उक्त स्थल को विकसित करने की दिशा में किस तरह किया त्वरित पहल जानने के लिए पढ़िए यह रिपोर्ट
 
अब उसे मिलेगा पहचान:- जो झरना स्थल था गुमनाम,उसे मिलेगा अब पहचान,जी हां हम बात कर रहे हैं गढ़वा जिला के नगर उंटारी अनुमंडल मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर अवस्थित एक झरना स्थल की जिसे पास के लोगों ने नैना झरना नाम दिया है,मगर इसे विडंबना ही कहेंगें की आम के निग़ाहों में पेवस्त उक्त झरना स्थल ख़ास के नज़रों से दूर है,तभी तो नयनाभिराम होते हुए भी गुमनाम है,दूर जंगलों और कंदराओं से हो कर गुज़रते हुए पहाड़ी से झर झर झरता झरना बरबस लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है,लोग आते तो हैं पल भर के लिए लेकिन दुर्लभ नजारों के देख घंटों बैठ कर उसे अपलक निहारा करते हैं,लेकिन अफ़सोस लोगों को इस बात का है कि आज सरकार राज्य के ऐसे स्थलों को विकसित करने को खुद को कटिबद्ध बताती है फ़िर भी ऐसे स्थल का विकास कौन कहे यह तो हुक्मरानों के नज़रों से भी ओझल है,लेकिन गढ़वा डीसी के पहल से लोगों में आस जगी है।
 
होगा झरना स्थल का विकास:- उपायुक्त ने शुरू किया प्रयास,होगा झरना स्थल का विकास,जी हां गढ़वा का उक्त नैना झरना गढ़वा डीसी हर्ष मंगला के नज़रों में आने के बाद स्थल के विकसित होने की उम्मीद बढ़ चली है,क्योंकि झरना के बाबत जैसे ही जानकारी हुई उपायुक्त द्वारा तत्क्षण नगर उंटारी अंचलाधिकारी अरुणिमा एक्का को स्थल पर जा कर उसके बाबत रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया,मिले निर्देश के आलोक में अंचलाधिकारी अरुणिमा एक्का झरना स्थल पहुंची और उसका अवलोकन करने के उपरांत स्थल के प्रति आकर्षित होती हुई बोलीं की सच में नाम के अनुरुप नैना झरना नज़रों को आकर्षित करती है,साथ ही कहा कि इसे विकसित कर देने से जहां एक तरफ जिले को एक नायाब पर्यटन स्थल मिलेगा वहीं सरकार को अच्छी राजस्व की भी प्राप्ति होगी,उधर उपायुक्त हर्ष मंगला ने कहा कि देर तो हुआ जरूर पर अब नैना झरना को पूर्ण रूप से पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।
 
 

Total view 1729

RELATED NEWS