Bindash News || लाने अभियान में नयी "क्रांति",आईजी ने मनायी जवानों के साथ "संक्रांति"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

लाने अभियान में नयी "क्रांति",आईजी ने मनायी जवानों के साथ "संक्रांति"

Bindash News / 21-01-2019 / 746


नहीं होगा उद्देश्य विफ़ल,होगा नक्सल अभियान सफल:लाटकर

 
है अभी भी वक़्त,नक्सली डाल दें हथियार,नहीं तो हम हैं उनके ख़ात्मे को तैयार:एसपी/कमांडेंट
 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
अभियान में लाने को नयी क्रांति,आईजी ने मनायी जवानों के साथ संक्रांति,जी हां पुलिस और सीआरपीएफ के वह जवान जो गढ़वा को पूर्ण रूप से नक्सल मुक्त करने के अभियान में रत हैं उन जवानों का हौसला बढ़ाने और उनमें नयी ऊर्जा का संचार करने के लिहाज़ से सीआरपीएफ के आईजी सुदूर जंगल में अवस्थित पिकेट कुल्ही पहुंचे जहां उन्होंने जवानों के साथ संक्रांति मनायी और कुछ घंटे साथ में गुजारते हुए सबके जोश और जज़्बे को दुगुना किया,साथ ही उन्होंने जवानों से और जवानों ने उनसे क्या कहा पढ़िए इस रिपोर्ट में।
 
हम हैं तैयार:- है वक़्त अभी भी,नक्सली डाल दें हथियार,नहीं तो हम हैं ही तैयार",जी हां नक्सली ख़ात्मे के अपने इसी संकल्प के साथ जुटीं गढ़वा एसपी शिवानी तिवारी,उधर अभियान में हमक़दम बने सीआरपीएफ 172 बटालियन के कमांडेंट एस एन मिश्रा और एएसपी अभियान सदन कुमार द्वारा कुल्ही पिकेट पहुंचे सीआरपीएफ आईजी संजय ए लाटकर का स्वागत किया गया,साथ ही कुल्ही पिकेट के साथ साथ अन्य जगहों पर स्थापित किये गए पिकेट के विषय में जानकारी दी गयी,वहीं अधिकारियों द्वारा अब तलक के अभियान और हासिल सफ़लता के बावत बताया गया,साथ ही साथ अधियारियों ने आईजी को बताया कि जवान के साथ साथ हम सभी इस रूप में पूरी तरह तैयार हैं कि अभी भी वक़्त है सरेंडर नीति से प्रभावित हो कर नक्सली हथियार डाल कर मुख्यधारा में वापस आ जाएं नहीं तो हम उनके समूल ख़ात्मे को तैयार हैं ही।
 
होगा नक्सल अभियान सफ़ल:- जवानों के साथ चूड़ा-दही और तिलवा खाते हुए सीआरपीएफ के आईजी संजय ए लाटकर ने कहा कि सबसे पहले आप सहित सभी अधिकारियों को इसलिए बधाई देता हूं कि आपने पिकेट स्थापना के जरिये नक्सलियों को बाहर में उन्मुक्त रूप से विचरण करने पर रोक लगाते हुए उन्हें एक छोटे से पॉकेट में सिमट कर रहने पर मजबूर कर दिया है,आपने तो नक्सलियों का वह हाल किया है कि नक्सली पंख रहते हुए भी उड़ने की साहस नहीं जुटा पा रहे हैं क्योंकि आप शातिर बाज के मानिंद उन पर नज़र गड़ाए हुए हैं,अगर इतना के बावजूद वो पॉकेट से कहीं निकलने की हिमाक़त कर रहे हैं तो आप उन्हें भूखे शेर की तरह निगलने को आतुर भी हैं,इसलिए आपके इस जोश,जज़्बे और सोची समझी कुशल रणनीति की सराहना करते हुए बधाई देते हैं और यह सब देखते हुए कहते हैं की "अब किसी सूरत में अपना उद्देश्य नहीं होगा विफ़ल,नक्सल उन्मूलन अभियान हमारा हो कर रहेगा सफल।"
 
अभियान हमारा पायेगा मक़ाम:- हो कर हौसले से लबरेज़,कह रहे जवान,अभियान हमारा पायेगा मक़ाम",अपने पास वरीय अधिकारियों के पहुंचने और दही-चूड़ा साथ खा कर संक्रांति मनाने से आह्लादित जवानों ने कहा कि हमारी एसपी और अपने कमांडेंट पिकेट में प्रायः आया करते हैं और हमारे साथ बैठ हाल जानने के साथ साथ हमारा उत्साह बढ़ाया करते हैं,लेकिन आज आप सबों ने एक साथ यहां आ कर और हमारे साथ संक्रांति मना कर हमारे जोश और जज़्बे को दुगुना कर दिया,इसी ज़ज्बे से लबरेज़ हो आज हम सभी कहते हैं कि अभियान हमारा पा कर रहेगा मकाम।
 

Total view 746

RELATED NEWS