Bindash News || ये क्या हो गया आज,गिरफ़्तार हो गए "धर्मराज"
    

    
    

    
    

    
    
    






       
        
        
 


    

State

ये क्या हो गया आज,गिरफ़्तार हो गए "धर्मराज"

Bindash News / 16-02-2019 / 1980


उनके चुनावी नाव को डुबो देगी मेरी गिरफ़्तारी:धर्मराज

 
आशुतोष रंजन
 
गढ़वा
 
ये क्या हो गया आज,गिरफ़्तार हो गए धर्मराज",जी हां हम बात कर रहे हैं लोकसभा चुनाव प्रत्याशी गढ़वा जिला निवासी धर्मराज पासवान की जिन्हें आज पुलिस द्वारा गिरफ़्तार कर लिया गया,क्या गिरफ़्तारी का था कोई विशेष कारण या है राजनीतिक प्रतिद्वंदिता जानने के लिए पढ़िए यह ख़ास रिपोर्ट-
 
पर हो गए गिरफ़्तार:- आगामी लोकसभा चुनाव में पलामू लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के संभावित उम्मीदवार के रूप में क्षेत्र से ले कर जिला,राज्य और केंद्र की राजनीतिक गलियारे में पैठ जमाने में युद्धस्तर पर जुटे धर्मराज को इसका तनिक भी अंदेशा नहीं था कि एन चुनाव के वक्त उनके साथ ऐसा होगा,पर होने वाला तो हो गया,आज वो गिरफ़्तार कर लिए गए।
 
लग ही गया बिजली का झटका:- तब तो नहीं था खटका,लेकिन आज लग ही गया बिजली का झटका",गिरफ्तारी के बावत बताएं कि नेता धर्मराज पासवान को कुछ सालों पहले अनियमित बिजली आपूर्ति के विरुद्ध प्रदर्शन करने का खामियाजा आज भुगतना पड़ा,उसी वक्त विभाग द्वारा उन्हें प्राथमिकी अभियुक्त बनाया गया था,लेकिन इसे पहुंच ही कहेंगें की वारंट के बाद भी गिरफ़्तारी नहीं हुई थी,लेकिन बिजली के झटके से कब तलक बचते आज करंट लग गया,और वारंट का तामिला कराते हुए पुलिस द्वारा गिरफ़्तार भी कर लिया गया।
 
उनके इशारे पर हुई इनकी गिरफ़्तारी:- गिरफ़्तारी के विषय में बोलते हुए नेता धर्मराज पासवान ने सीधे रूप में कहा कि मैं यह मानता हूं कि मामला लंबित था लेकिन आज एकाएक गिरफ़्तारी ऐसे ही थोड़े हुई है बल्कि उनके इशारे पर हमें गिरफ़्तार किया गया है,किसके इशारे पर पूछे जाने पर कहा कि सब बात अभी मत बोलवाईये,लेकिन आप मीडिया मित्रों के साथ साथ पूरी पलामू की जनता जान रही है कि ऐसा चरित्र अभी किसका है,साथ ही कौन अभी एक बड़े पद पर काबिज़ रहने के साथ साथ किसका गिरफ्तार करने वाले विभाग पर पुरानी पकड़ है,और हमारे गिरफ़्तार नहीं होने से नुकसान किसे हो रहा था,कहा कि भाजपा से लोकसभा चुनाव के लिए संभावित उम्मीदवार के रूप में हमारा क्षेत्र में घूमना उन्हें शुरू से नागवार गुजर रहा था,वक्त वक्त पर अपने लोगों के बीच में उनके द्वारा मेरे बारे में कुछ कुछ बोला भी जाता था,आज मुझे गिरफ़्तार करा कर वो आह्लादित भले हो रहे हों लेकिन मेरी गिरफ़्तारी ही उनके चुनावी नाव डुबोने में आखिरी कील साबित होगी।
 

Total view 1980

RELATED NEWS